बिलासपुर चंबा हमीरपुर कांगड़ा किन्नौर कुल्लू लाहौल-स्पीति मंडी शिमला सिरमौर सोलन ऊना
ताज़ा ख़बरें
कोरोनाः 477 संक्रमित, 227 मरीज हुए ठीककोरोनाः बिना मास्क के घूमने वालों के काटे चालानसंगीत की ताकत बताती है एआर रहमान की फिल्म 99 SONGS ; पढ़ें रिव्यू, देखें फिल्मकोरोनाः 10 हारे जिंदगी की जंग, कुंभ से लौटे 8 श्रद्धालुओं समेत 971 नए मामलेकोरोनाः 1 नया मामला आयाIPL 2021: वॉर्नर-जॉनी की शानदार पारी काम नहीं आई, मुंबई से 13 रन से हारा हैदराबादहमीरपुर: 69 लोग निकले कोरोना पाॅजिटिवकांगड़ा: कोरोना से तीन की मौत, 258 नए संक्रमित मिलेसीएम ने कोरोना से लड़ाई में उद्योगपतियों का सहयोग मांगाभाषा, शास्त्री व कला अध्यापक के लिए भूतपूर्व सैनिक आश्रित करें आवेदनशुद्ध हवा और जल की उपलब्धता में वन संपदा महत्वपूर्ण: डीसी चंबाराज्यपाल ने कोविड वैक्सीन की दूसरी खुराक ली अप्रेंटिस के 100 पदों पर भर्ती करें आवेदनपंचायतों में जल संग्रहण तालाब बनाने को विभाग तैयार करे योजना:डीसीहोम आईसोलेट मरीजों की स्वास्थ्य मापदंडानुसार नियमित निगरानी हो: सीएमशाहपुर में किया जाएगा इंडोर स्टेडियम का निर्माण:सरवीण चौधरी

हास्य/व्यंग

कहीं जिम कार्बेट पर न हो जाएं अडाणी-अंबानी का कब्जा!

कहीं जिम कार्बेट पर न हो जाएं अडाणी-अंबानी का कब्जा!

जिम कार्बेट की एक बाघिन अब राजाजी नेशनल पार्क के मोतीचूर रेंज में शिफ्ट हो गयी है। बाघिन को डर था कि साहेब की नजर कार्बेट पर पड़ गयी है तो क्या पता अन्य राष्ट्रीय संपत्तियों की तर्ज पर पार्क को अडाणी-अंबानी को न दे दें। सो, भारी मन से राजाजी पार्क पहुंच गयी। गौरतलब है कि जब पुलवामा में 44 जवान एक-एक कर दम तोड़ रहे थे तो साहेब डिस्कबरी के बेयर ग्रिल्स के साथ मैन वर्सेज वाइल्ड की शूटिंग में व्यस्त थे।

चचा 405 दिन अंतरआत्मा की सुन लो, क्या पता फिर मौका मिले, न मिले!

चचा 405 दिन अंतरआत्मा की सुन लो, क्या पता फिर मौका मिले, न मिले!

चचा, आपको उत्तराखंड का इतिहास बनाने के लिए 1825 दिन मिले थे। इनमें से 1391 दिन आपने यूं ही बेकार गंवा दिये। एक दिन गैरसैंण ग्रीष्मकालीन राजधानी घोषित की। अब आपके पास 433 दिन बाकी हैं। इनमें से 14 दिन कोरोना काल में बिता दोगे और अगले 14 दिन कोरंटाइन में। यानी अब कुल 45 दिन ही बचे हैं इतिहास बनाने के लिए।

मोदी जी ने सपने में डरा दिया!

मोदी जी ने सपने में डरा दिया!

मैंने कल रात एक सपना देखा कि अपने प्यारे और न्यारे पीएम मोदी जी कसाई बन गए हैं। वो देश की गरीब जनता को खूब राशन बांट रहे हैं। जनता मुफ्त का खा-खा कर मोटी हो गई है तो मोदी जी ने एक साथ उनको महंगाई, बेकारी, सीमाओं पर निहत्थे ही दुश्मनों के आगे झोंक डाला है। जनता मर रही है, जो बच गए हैं वो भूख से मर रहे हैं। मैंने सपने में देखा भारतीयों की यह हालत देख कर मोदी जी, शाह जी, अड़ानी जी, अंबानी जी रावण की तर्ज पर ठहाके लगा रहे हैं। इन चारों के एक साथ भंयकर अट्ठास से मेरी नींद टूट गई। मैं पसीने से लथपथ था। शुक्र है सपना ही था। देश सुरक्षित हाथों में है।

बंदरों-गुलदारों ने त्रिवेंद्र सरकार के खिलाफ किया प्रदर्शन

बंदरों-गुलदारों ने त्रिवेंद्र सरकार के खिलाफ किया प्रदर्शन

पौड़ी गढ़वाल। लैंसीडाउन स्थित कालों के डांडा में सोमवार सुबह प्रदेश भर के बंदरों और गुलदारों ने एनआरसी और सीएए के खिलाफ प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारी बंदरों और गुलदारों ने मोदी व त्रिवेंद्र रावत के खिलाफ मुर्दाबाद के नारे लगाए। बंदरों और गुलदारों ने इस एक्ट को प्रकृति और संविधान के खिलाफ बताया। 

चार्जशीट से आहत सीएम वीरभद्र का इस्तीफा, टॉस से बनेगा अगला सीएम

दूसरी राजधानी धर्मशाला, 01 अप्रैल। आय से अधिक संपत्ति मामले में कोर्ट में चार्जशीट दाखिल होने के चलते मुख्यमंत्री वीरभद्र ङ्क्षसह ने नैतिकता के आधार पर इस्तीफा दे दिया है। हालांकि राज्यपाल ने अभी तक इस्तीफा स्वीकार नहीं किया है और एक शर्त रखते हुए उन्हें पहले अपना उत्तराधिकारी चुनने के लिए दो दिन का समय दिया है। मुख्यमंत्री ने अपने उत्तराधिकारी का चुनाव टॉस के जरिये करवाने का निर्णय लिया है। अभी तक मिले आवेदनों में इस दौड़ में स्वास्थ्य मंत्री कौल सिंह ठाकुर, परिवहन मंत्री जीएस बाली, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुखविंद्र सुख्खू, शहरी विकास मंत्री सुधीर शर्मा, श्रम एवं उद्योग मंत्री मुकेश अग्रिहोत्री शामिल बताए जा रहे हैं।

यमलोक से लाइव: वेलेंटाइन-डे और टॉरगेट

आज सुबह-सुबह हल्की-हल्की धुप में गुलाबी ठंड और उस पर वेलेंटाइन वीक। मज़ा आ रहा है यमलोक से धरती का नज़ारा देखने का। हर तरफ प्रेम से सराबोर प्रेमी गुलाब के फूल बस। अगर सच मानो तो यमलोक से देखने पर पृथ्वी ही स्वर्ग लग रही थी, लेकिन पत्रकारों के जीवन में ये नजारा कहाँ नसीब। इतना रोमेंटिक मौसम और उस पर यमलोक में विद्रोही सोचा छूट्टी ले के घर घूम आता हूँ। अपनी बाइक उठाई कैमरा और माइक आईंडी लेके पहुँच गया यमराज के दरबार। सोचा यमराज की वेलेंटाइन-डे पर बाइट ले लंू। एक-दो और बाइट ले के रख लेता हूँ। एक दो दिन बाद बाइट चला दूंगा। अपना काम भी हो जायेगा और छूट्टी भी काट लूंगा आराम से।

नैतिकता आधार पर 'पद' छोडऩे की मांग पर बवाल

मुर्ख मंडली के अध्यक्ष ने नैतिकता शब्द का हर कहीं इस्तेमाल करने पर कड़ी आपत्ति जताई है। दरअसल उन्हें सबसे बड़ी आपत्ति नेताओं से है। मंडली का कहना है कि नेता आए दिन कह बैठते हैं कि फ्लां को नैतिकता के आधार पर पद छोडऩा चाहिए। मुर्खों के अध्यक्ष ने कहा कि अब पद छोडऩा ही है तो एसे छोड़ दें। नैतिकता को साथ में लेने की क्या जरूरत है। पद है, गैसटिक हो गई होगी कहीं कोने में जाकर छोड़ दें। इसमें नैतिकता को साथ में क्यों जोड़ रहे हैं। किसी ने कुछ किया नहीं कि बोलने लगे नैतिकता के आधार पर छोड़ें पद।

कवि गोष्ठी: सरहदों ने बांट दिया गधे का प्यार

सरहद न होती तो हर शाम तूं मेरे यहां होती
मैं भारतीय गधा और तूं पाकिस्तान गधी साथ-साथ चरते
न मैं भारत से डरता न तूं पाकिस्तान से डरती
जब भी मिलते हरी घास की चादर पर तो प्यार भरी बातें होती

News/Articles Photos Videos Archive Send News

Himachal News

Email : editor@firlive.com
Visitor's Count : 1,23,83895
Copyright © 2016 First Information Reporting Media Group All rights reserved.
Website Designed by Mozart Infotech