Friday, May 20, 2022
BREAKING
23 मई से प्रातः पौने आठ बजे खुलेंगे स्कूल सोलन में खाटू नरेश श्याम बाबा के मंदिर के लिए139 वर्ग मीटर भूमि दी दान धर्मशाला में पीएम के प्रस्तावित प्रवास की तैयारियां शुरू, क्रिकेट स्‍टेडियम पहुंचे डीसी/एसपी फील्‍ड एग्जीक्यूटिव ऑफिसर के 175 पदों के लिए इंटरव्यू 24 को ऊना में सीएम ने रोहड़ू के समरकोट व धमवाड़ी को दी उप-तहसील, सीएच रोहड़ू को सीटी स्कैन धर्मशाला से भागसूनाग जा रही निजी बस पलटी, कई घायल फंदे से लटकी मिली कॉलेज छात्रा, युवक की संदिग्‍ध मौत, महिला का शव लेने से किया इनकार धर्मशाला जेल में बंद विचाराधिन कैदी पठानकोट में पुलिस को चकमा देकर फरार क्षमता के समग्र विकास के लिए प्रत्येक बच्चे को मिलें समान अवसर:राज्यपाल अवगुणों को दूर करके सद्गुण अपनायें: सत्गुरु माता सुदीक्षा जी महाराज
april, 22

पी.एम. कुसुम योजना के लिए नामित सरकारी विभाग में ही करें आवेदन, ठगी से बचें

एफ.आई.आर. लाइव डेस्क Updated on Friday, December 31, 2021 16:46 PM IST
पी.एम. कुसुम योजना के लिए नामित सरकारी विभाग में ही करें आवेदन, ठगी से बचें

शिमला,31 दिसंबर। कृषि विभाग के एक प्रवक्ता ने आज यहां बताया कि नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय के माध्यम से प्रधानमंत्री किसान ऊर्जा एवं उत्थान महाभियान (पी.एम. कुसुम) योजना कार्यान्वित की जा रही है। इस योजना के अन्तर्गत सौर पम्पों से सिंचाई के लिए व्यक्तिगत व सामुदायिक स्तर पर मशीनरी लगाने के लिए लघु सीमांत वर्ग के किसानों को 85 प्रतिशत की सहायता तथा मध्यम व बड़े वर्ग के किसानों को 80 प्रतिशत की सहायता का प्रावधान है।

 

प्रवक्ता ने कहा कि मंत्रालय के संज्ञान में यह आया है कि कुछ फर्जी वेबसाइट और मोबाइल ऐप्लीकेशन प्रधानमंत्री-कुसुम योजना के नाम पर किसानों से सोलर पम्प लगाने के लिए  ऑनलाइन आवेदन पत्र भरने और पंजीकरण शुल्क तथा पम्प की कीमत का ऑनलाइन भुगतान करने को कह रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह पूरी तरह से निराधार है और आवेदकों तथा जन-साधारण से ऐसी फर्जी वेबसाइट और मोबाइल ऐप्लीकेशन पर क्लिक न करने का आग्रह किया है। उन्होंने कहा कि यह फर्जी वेबसाइट जन-साधारण से धोखाधड़ी कर उनके पैसे व आवश्यक जानकारी जुटा रहे हैं।

 

उन्होंने कहा कि पी.एम. कुसुम योजना सरकार द्वारा केवल प्रदेश के नामित सरकारी विभाग के माध्यम से ही कार्यान्वित की जा रही है तथा लाभार्थी किसान को मनोनीत सरकारी विभाग को ही अपना हिस्सा जमा करवाना होता है। उन्होंने कहा कि नामित विभागों के बारे में तथा अन्य आवश्यक जानकारी जैसे कि भागीदारी के लिए पात्रता व कार्यान्वयन प्रक्रिया इत्यादि के बारे में अधिकारिक जानकारी एम.एन.आर.ई. की वेबसाइट  www.mnre.gov.in पर उपलब्ध है। इसके अतिरिक्त टोल फ्री नम्बर-1800-180-3333 पर सम्पर्क करके भी जानकारी प्राप्त की जा सकती है। उन्होंने कहा कि किसान अपने नजदीकी कृषि कार्यालय में जाकर भी इस योजना से सम्बन्धित जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

 

केंद्रीय कृषि मंत्री ने कुल्लू, ऊना तथा चंबा जिला के किसानों ने किया वर्चुअल संवाद

किसान भागीदारी प्राथमिकता हमारी : केंद्रीय कृषि मंत्री ने कुल्लू, ऊना तथा चंबा जिला के किसानों ने किया वर्चुअल संवाद

निचले क्षेत्रों के लिए विकसित सेब की किस्में कांगड़ा के पूरन चंद के लिए बनी वरदान

सफलता की कहानी : निचले क्षेत्रों के लिए विकसित सेब की किस्में कांगड़ा के पूरन चंद के लिए बनी वरदान

गेहूं की सरकारी खरीद 15 अप्रैल से, एमएसपी 2015 रूपये प्रति क्विंटल निर्धारित

ऑनलाइन आवेदन जरूरी : गेहूं की सरकारी खरीद 15 अप्रैल से, एमएसपी 2015 रूपये प्रति क्विंटल निर्धारित

प्रदेश में पशुओं को चिकित्‍सा मुहैया करवाने को दौड़ेंगी 44 एंबुलेंस, वीरेंद्र कंवर ने की घोषणा

सुविधा : प्रदेश में पशुओं को चिकित्‍सा मुहैया करवाने को दौड़ेंगी 44 एंबुलेंस, वीरेंद्र कंवर ने की घोषणा

108 करोड़ की कृषि परियोजना स्वीकृत करने के लिए सीएम ने केंद्र का आभार जताया

एकीकृत डिजिटल कृषि प्लेटफार्म : 108 करोड़ की कृषि परियोजना स्वीकृत करने के लिए सीएम ने केंद्र का आभार जताया

कृषि मंत्री ने केंद्र के समक्ष रखी आलू किसानों की समस्‍या, सेंटर ऑफ एक्सीलेंस खोलने का आग्रह किया

बैठक : कृषि मंत्री ने केंद्र के समक्ष रखी आलू किसानों की समस्‍या, सेंटर ऑफ एक्सीलेंस खोलने का आग्रह किया

कृषि उत्पादन संरक्षण योजना के तहत 2021-22 में 8.29 करोड़ खर्च, धर्मशाला में बागवानी प्रदर्शनी

किसान योजनाएं : कृषि उत्पादन संरक्षण योजना के तहत 2021-22 में 8.29 करोड़ खर्च, धर्मशाला में बागवानी प्रदर्शनी

बंजर जमीन को प्राकृतिक खेती से बनाया उपजाऊ, ‘सोना’ उगा रहे धर्मपुर के अजय

सफलता की कहानी : बंजर जमीन को प्राकृतिक खेती से बनाया उपजाऊ, ‘सोना’ उगा रहे धर्मपुर के अजय

VIDEO POST

View All Videos
X