Monday, September 20, 2021
BREAKING
यूपी के युवक ने शिमला की महिला को फेसबुक के जरिए जाल में फंसा किया दुष्‍कर्म चरणजीत चन्‍नी होंगे पंजाब के नए सरदार, सिद्धू के विरोध के चलते रंधावा चूके शिमला से दिल्‍ली रवाना हुए राष्‍ट्रपति, खराब मौसम के चलते 3 घंटे देरी से उड़ा हैलीकाप्‍टर   मंडी के पास ब्‍यास में गिरी मिली हरियाणा नंबर की कार, चालक व सवार लपता, गोताखोर बुलाए दीन दयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल योजना ने युवाओं के लिए खोले रोजगार के द्वार मंडी में ममता शर्मसार, मां ने खड्ड में फैंक दी दो दुधमुही बच्‍चियां, मौत बिलासपुर जिला कांग्रेस कमेटी ने बैठक करके आगामी चुनावों को लेकर बनाई रणनीति एम्‍स में एमबीबीएस प्रशिक्षुओं ने केंटीन कर्मी को पीटा, कारें तोड़ीं हिमाचल में 947.47 करोड़ रुपये निवेश के प्रस्तावों को स्वीकृति प्रदान की गुगल पे अकाउंट खोलने के नाम पर लाखों की धोखाधड़ी

व्यक्तिगत उपस्थिति वाले पहले क्वाड सम्मेलन की मेजबानी करेंगे बाइडन

एफ.आई.आर. लाइव डेस्क Updated on Tuesday, September 14, 2021 17:52 PM IST
व्यक्तिगत उपस्थिति वाले पहले क्वाड सम्मेलन की मेजबानी करेंगे बाइडन

वाशिंगटन, 14 सितंबर। व्हाइट हाउस की ओर से कहा गया कि अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन 24 सितंबर को व्यक्तिगत उपस्थिति वाले पहले क्वाड शिखर सम्मेलन की मेजबानी करेंगे। इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके ऑस्ट्रेलियाई समकक्ष स्कॉट मॉरिसन तथा जापान के प्रधानमंत्री योशिहिदे सुगा शामिल होंगे।

 

व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव जेन साकी ने सोमवार को बताया कि चारों नेता मुक्त एवं खुले हिंद-प्रशांत क्षेत्र को बढ़ावा देने और जलवायु संकट से निबटने के बारे में बात करेंगे। वे अपने संबंधों को और गहरा करने और कोविड-19 तथा अन्य क्षेत्रों में व्यवहारिक सहयोग को बढ़ाने के बारे में भी बात करेंगे। इस मौके पर उभरती प्रौद्योगिकियों तथा साइबर स्पेस के बारे में भी बात की जाएगी।

 

साकी ने कहा कि ‘राष्ट्रपति जोसफ आर बाइडन जूनियर व्हाइट हाउस में 24 सितंबर को व्यक्तिगत उपस्थिति वाले पहले क्वाड शिखर सम्मेलन की मेजबानी करेंगे। राष्ट्रपति बाइडन व्हाइट हाउस में ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन, भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और जापान के प्रधानमंत्री योशिहिदे सुगा का स्वागत करने के लिए उत्सुक हैं।’

 

साकी ने कहा कि क्वाड को बढ़ावा देना बाइडन-हैरिस प्रशासन के लिए प्राथमिकता है, जो मार्च में क्वाड नेताओं के पहले सम्मेलन में साफ नजर आया था। तब यह सम्मेलन ऑनलाइन आयोजित हुआ था और अब प्रत्यक्ष हो रहा है। ऑनलाइन सम्मेलन की मेजबानी राष्ट्रपति बाइडन ने ही की थी तथा इसमें मुक्त, खुले, समावेशी हिंद-प्रशांत क्षेत्र के लिए प्रयास करने का संकल्प लिया गया था।

 

नई दिल्ली में, विदेश मंत्रालय ने कहा कि मोदी 24 सितंबर को वाशिंगटन में क्वाड समूह के नेताओं के शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेंगे। बयान में बताया गया कि ये नेता 12 मार्च को हुए ऑनलाइन शिखर सम्मेलन के बाद हुई प्रगति की समीक्षा करेंगे और साझा हित के क्षेत्रीय मुद्दों पर चर्चा करेंगे।

 

विदेश मंत्रालय ने कहा कि शिखर सम्मेलन, नेताओं के बीच संवाद तथा बातचीत के लिए एक मूल्यवान अवसर प्रदान करेगा, जो एक स्वतंत्र, मुक्त और समावेशी हिंद-प्रशांत को सुनिश्चित करने के उनके साझा दृष्टिकोण पर आधारित है।

 

प्रधानमंत्री मोदी 24 सितंबर को वाशिंगटन जाएंगे

 

नई दिल्ली प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अगले सप्ताह अमेरिका की यात्रा पर जायेंगे जहां वह 24 सितंबर को वाशिंगटन में क्वाड समूह के नेताओं के शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेंगे। विदेश मंत्रालय ने मंगलवार को इसकी घोषणा की। क्वाड नेताओं की उपस्थिति में होने वाली इस बैठक में मुक्त तथा समावेशी हिन्द प्रशांत, अफगानिस्तान संकट सहित विश्व की समसामयिक चुनौतियों पर चर्चा किये जाने की संभावना है।

 

विदेश मंत्रालय ने एक बयान में बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का 25 सितंबर को न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र महासभा (यूएनजीए) के 76वें सत्र के एक उच्च स्तरीय खंड को भी संबोधित करने का कार्यक्रम है। जो बाइडन के अमेरिका के राष्ट्रपति का पदभार संभालने के बाद मोदी की यह पहली अमेरिका यात्रा होगी।

 

मंत्रालय ने बयान में कहा कि प्रधानमंत्री 24 सितंबर को अमेरिका के वाशिंगटन डीसी में ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन, जापान के प्रधानमंत्री योशीहिदे सुगा और अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन के साथ क्वाड नेताओं के शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेंगे।  इस दौरान अफगानिस्तान के मुद्दे पर भी चर्चा होने की संभावना है।

 

वाशिंगटन में मोदी की राष्ट्रपति बाइडन और आस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन की अलग द्विपक्षीय वार्ता होने की उम्मीद है। मोदी और बाइडन की द्विपक्षीय बैठक व्हाइट हाउस में 23 सितंबर को होने की उम्मीद है। जनवरी में बाइडन के राष्ट्रपति बनने के बाद दोनों नेता डिजिटल माध्यम से कई बार संवाद कर चुके हैं।

 

पिछली बार मोदी ने सितंबर 2019 में अमेरिका की यात्रा की थी। तब उन्होंने तत्कालीन अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ ह्यूस्टन में ‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम में हिस्सा लिया था। बयान में बताया गया कि ये नेता 12 मार्च को ऑनलाइन हुए शिखर सम्मेलन के बाद हुई प्रगति की समीक्षा करेंगे और साझा हित के क्षेत्रीय मुद्दों पर चर्चा करेंगे। मंत्रालय ने कहा कि कोविड-19 वैश्विक महामारी से निपटने के उनके प्रयासों के तौर पर, वे क्वाड टीकाकरण पहल की समीक्षा करेंगे, जिसकी घोषणा मार्च में की गई थी।

 

उल्लेखनीय है कि क्वाड समूह में अमेरिका, भारत, आस्ट्रेलिया और जापान शामिल हैं। अमेरिका क्वाड समूह की बैठक कर रहा है जिसमें समूह के नेता हिस्सा लेंगे । इसके जरिये अमेरिका हिन्द प्रशांत क्षेत्र में सहयोग और समूह के प्रति उसकी प्रतिबद्धता को प्रदर्शित करने का मजबूत संकेत देना चाहता है। मार्च में अमेरिकी राष्ट्रपति ने क्वाड देशों के नेताओं की पहली शिखर बैठक डिजिटल माध्यम से आयोजित की थी और लोकतांत्रिक मूल्यों के आधार पर मुक्त एवं समावेशी हिन्द प्रशांत क्षेत्र को लेकर प्रतिबद्धता प्रकट की थी। इसका परोक्ष संदेश चीन को लेकर था।

 

मोदी वाशिंगटन में अपना कार्यक्रम पूरा करने के बाद संयुक्त राष्ट्र महासभा में हिस्सा लेने के लिये न्यूयार्क जायेंगे। मंत्रालय के बयान में कहा गया कि चारों नेता महत्वपूर्ण एवं उभरती प्रौद्योगिकियों, सम्पर्क और बुनियादी ढांचे, साइबर सुरक्षा, समुद्री सुरक्षा, मानवीय सहायता, आपदा राहत, जलवायु परिवर्तन और शिक्षा जैसे समकालीन वैश्विक मुद्दों पर भी विचारों का आदान-प्रदान करेंगे।

 

मंत्रालय ने कहा कि शिखर सम्मेलन, नेताओं के बीच संवाद तथा बातचीत के लिए एक मूल्यवान अवसर प्रदान करेगा, जो एक स्वतंत्र, मुक्त और समावेशी हिंद-प्रशांत को सुनिश्चित करने के उनके साझा दृष्टिकोण पर आधारित है। प्रधानमंत्री मोदी की अमेरिका यात्रा की तैयारियों को लेकर दोनों देशों ने कई बैठकें की थी। इनमें अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकेन और रक्षा मंत्री ल्याड आस्टिन की यात्रा शामिल हैं।

 

पिछले करीब छह महीने में मोदी की यह पहली विदेश यात्रा होगी। मार्च में प्रधानमंत्री ने बंगबंधु मुजीबुर रहमान की जन्मशती वर्ष और मुक्ति संग्राम के 50 वर्ष पूरा होने के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लेने बांग्लादेश गए थे।

अफगानिस्तान को बाहर से नियंत्रित नहीं किया जा सकता: इमरान खान

एससीओ बैठक : अफगानिस्तान को बाहर से नियंत्रित नहीं किया जा सकता: इमरान खान

पृथ्वी का चक्कर लगाने 4 लोगों को लेकर पृथ्‍वी की कक्षा में पहुंचा स्पेसएक्स

रचा इतिहास : पृथ्वी का चक्कर लगाने 4 लोगों को लेकर पृथ्‍वी की कक्षा में पहुंचा स्पेसएक्स

चीन में 6 तीव्रता का भूकंप, 3 की मौत, 60 घायल

कांपी धरती : चीन में 6 तीव्रता का भूकंप, 3 की मौत, 60 घायल

गरीबी और अज्ञानता कट्टरपंथी हिंसा के कारक, स्कूली शिक्षा महत्वपूर्ण: पोप फ्रांसिस

संदेश : गरीबी और अज्ञानता कट्टरपंथी हिंसा के कारक, स्कूली शिक्षा महत्वपूर्ण: पोप फ्रांसिस

9/11 बरसी: बाइडन ने लोगों से एकजुटता की अपील की, तीनों घटनास्थलों पर भी जाएंगे

श्रद्धांजलि : 9/11 बरसी: बाइडन ने लोगों से एकजुटता की अपील की, तीनों घटनास्थलों पर भी जाएंगे

अफगानिस्तान के पूर्व उप राष्ट्रपति के भाई की तालिबान ने गोली मारकर हत्या की

तालिबानी राज : अफगानिस्तान के पूर्व उप राष्ट्रपति के भाई की तालिबान ने गोली मारकर हत्या की

लाहौर से आईएसआईएस के तीन आतंकवादी गिरफ्तार, हथियार और गोला-बारूद बरामद

पाकिस्तान : लाहौर से आईएसआईएस के तीन आतंकवादी गिरफ्तार, हथियार और गोला-बारूद बरामद

सार्वभौमिक गरीबी की दहलीज पर खड़ा है अफगानिस्तान, जोखिम में पड़ी 20 साल की प्रगति

संयुक्त राष्ट्र एजेंसी का अनुमान : सार्वभौमिक गरीबी की दहलीज पर खड़ा है अफगानिस्तान, जोखिम में पड़ी 20 साल की प्रगति

VIDEO POST

View All Videos