Saturday, October 08, 2022
BREAKING
मुख्यमंत्री ने ऊना में 200 करोड़ की परियोजनाओं के लोकार्पण/शिलान्यास किए मौसा ने किया भांजी से दुष्‍कर्म, मेडिकल में गर्भवती पाई गई मंदिर जा रही महिला को अज्ञात वाहन ने रौंदा, मौत सीएम ने दसवीं तथा बारहवीं कक्षा के मेधावी छात्र-छात्राओं को सम्मानित किया खलीणी में 6.45 करोड़ से निर्मित राज्य कृषि विपणन बोर्ड के कांप्लेक्स का लोकार्पण मंडी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के सामाजिक प्रभाव के आकलन की प्रक्रिया शुरू शोभायात्रा में माथा टेकने जा रहे पूर्व कैप्‍टन की ट्रक की चपेट में आकर मौत पीटीए नियमित अध्यापक संघ ने नियमितीकरण पर सीएम का आभार जताया 225 पदों के लिए को कैंपस इंटरव्यू 11 अक्तूबर को हिमाचल मंत्रिमंडल के ताबड़तोड़ फैसले पढ़ें आपके क्षेत्र को क्‍या मिला
Strip 1-5(4)

हिमाचल के 10 लाख किसान परिवारों को 1931.63 करोड़ के प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरित

एफ.आई.आर. लाइव डेस्क Updated on Sunday, June 26, 2022 17:41 PM IST
हिमाचल के 10 लाख किसान परिवारों को 1931.63 करोड़ के प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरित

शिमला,26 जून। हिमाचल प्रदेश की अर्थव्यवस्था में किसान महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं। राज्य सरकार भी किसानों की आय में वृद्धि करने और ग्रामीण क्षेत्रों के समग्र विकास को प्राथमिकता प्रदान कर रही है और प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि का सफल कार्यान्वयन सुनिश्चित कर रही है। यह जानकारी प्रदेश सरकार के एक प्रवक्‍ता ने दी।

 

उन्‍होंने बताया कि पीएम किसान सम्मान निधि (पीएम-किसान) योजना का उद्देश्य छोटे और सीमांत किसानों की खेती से संबंधित वित्तीय जरूरतों को पूरा करने और उचित फसल स्वास्थ्य और अधिकतम उपज सुनिश्चित करने, विभिन्न आदानों की खरीद, आधुनिक कृषि उपकरण और तकनीक से लैस करने की परिकल्पना की गई है। योजना के अन्तर्गत पात्र किसान लाभार्थियों को वार्षिक 6,000 रुपये का वित्तीय लाभ, तीन समान किश्तों में दो-दो हजार रुपये के रूप में प्रदान किए जाते हैं।

 

राज्य के किसानों को सशक्त करते हुए पीएम किसान योजना किसानों के छोटे-छोटे खर्चों पूर्ति करने में भी उपयोगी साबित हो रही है और किसानों को अच्छी गुणवत्ता वाले बीज, खाद और उपकरण खरीदने में सक्षम बना रही है। हिमाचल सरकार द्वारा राज्य में पीएम किसान योजना के सफल क्रियान्वयन से अब तक लगभग 10 लाख (9 लाख 83 हजार 279) किसान परिवारों को 1931.63 करोड़ रुपये की राशि 11 किश्तों में प्रदान की गई है।

 

अब तक, जिला बिलासपुर के 59,607 किसानों के बैंक खातों में डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर (डीबीटी) के माध्यम से 116.75 करोड़ रुपये हस्तांतरित किए गए हैं, जिला चंबा के 70201 किसानों को 142.08 करोड़ रुपये, जिला हमीरपुर के 59699 किसानों को 120.98 करोड़ रुपये, जिला कांगड़ा के 215069 किसानों को 427.37 करोड़ रुपये, कुल्लू जिले के 68143 किसानों को 140.66 करोड़ रुपये और जिला मंडी के 170136 किसानों को 331.09 करोड़ का भुगतान किया गया है। जबकि जिला शिमला में 93315 किसानों के बैंक खातों में डीबीटी के माध्यम से 186.45 करोड़ रुपये हस्तांतरित किए गए हैं। सिरमौर जिले के 73381 किसानों को 127.37 करोड़ रुपये, सोलन जिले के 68339 किसानों को 137.85 करोड़ रुपये और जिला ऊना के 91325 किसानों के बैंक खातों में सीधे तैार पर 174.36 करोड़ रुपये हस्तांतरित किए गए हैं।

 

राज्य के जनजातीय जिलों के किसान भी पीएम किसान योजना के अन्तर्गत लाभान्वित हुए है। योजना के कार्यान्वयन से किन्नौर जिले के 10966 किसानों को लगभग 20.72 करोड़ रुपये की राशि और जिला लाहौल स्पीति के 3098 किसानों को लगभग 5.91 करोड़ रुपये की राशि प्रदान की गई है।

 

कोविड महामारी के दौरान भी पीएम किसान योजना राज्य के किसानों के लिए वरदान सिद्ध हुई है। इस दौरान राज्य सरकार द्वारा प्रदेश के किसानों को 11.27 करोड़ रुपये की राशि जारी की गई और इसी अवधि के दौरान 93246 किसानों ने अपना  पंजीकरण भी करवाया।

 

योजना के व्यापक प्रचार-प्रसार तथा अधिक किसानों को लाभान्वित करने के लिए  पीएम किसान पोर्टल, कॉमन सर्विस सेंटर और पीएम किसान मोबाइल ऐप भी आरम्भ की गई है। लाभार्थियों को निधि के लेनदेन की निगरानी के लिए पीएम किसान पोर्टल बनाया गया है।

बागवानों का शोषण रोकने को गठित कमेटी के अहम निर्णय, जीएसटी पर मिलेगा अनुदान

बैठक : बागवानों का शोषण रोकने को गठित कमेटी के अहम निर्णय, जीएसटी पर मिलेगा अनुदान

सेब सीजन में बागवानों का शोषण रोकने को सीएस की अध्यक्षता में गठित होगी समिति: सीएम

फैसला : सेब सीजन में बागवानों का शोषण रोकने को सीएस की अध्यक्षता में गठित होगी समिति: सीएम

आम व नींबू के लिए मंडी मध्यस्थता योजना मंजूर, 1250 मीट्रिक टन आम खरीदा जाएगा

फैसला : आम व नींबू के लिए मंडी मध्यस्थता योजना मंजूर, 1250 मीट्रिक टन आम खरीदा जाएगा

कृषि मंत्री ने प्राकृतिक कृषि पद्धति पर शोध के लिए राष्ट्रीय संसाधन केंद्र स्थापित करने का आग्रह किया

विज़न : कृषि मंत्री ने प्राकृतिक कृषि पद्धति पर शोध के लिए राष्ट्रीय संसाधन केंद्र स्थापित करने का आग्रह किया

हिमाचल में कृषि के लिए नवोन्मेषी प्रयास, 628.52 करोड़ रुपये का प्रावधान

आर्थिकी : हिमाचल में कृषि के लिए नवोन्मेषी प्रयास, 628.52 करोड़ रुपये का प्रावधान

फॉल आर्मी वर्म से मक्की के बचाव के लिए करें कौराजेन का स्प्रे, बीडीओ ऑफिस में उपलब्ध

कृषि सलाह : फॉल आर्मी वर्म से मक्की के बचाव के लिए करें कौराजेन का स्प्रे, बीडीओ ऑफिस में उपलब्ध

कृषि क्षेत्र में हिमाचल करेगा देश का पथ प्रदर्शनः राज्यपाल

राष्ट्रीय कृषि विज्ञान केंद्र सम्मेलन : कृषि क्षेत्र में हिमाचल करेगा देश का पथ प्रदर्शनः राज्यपाल

1.71 लाख किसानों ने प्राकृतिक खेती को अपनाया, खेतों तक पहुंचे अनुसंधान: मुख्यमंत्री

प्राकृतिक खेती खुशहाल किसान : 1.71 लाख किसानों ने प्राकृतिक खेती को अपनाया, खेतों तक पहुंचे अनुसंधान: मुख्यमंत्री

VIDEO POST

View All Videos
X