Thursday, August 18, 2022
BREAKING
ओबीसी आयोग अध्यक्ष ने शहरी इलाकों में ओबीसी जनसंख्‍या के सही आकलन के आदेश दिए मिड-डे मील योजना के तहत 3711.10 लाख रुपये जारी सीएम इंदौरा-फतेहपुर में 18 अगस्‍त को करेंगे हिमाचल स्थापना के 75 वर्ष समारोह का आगाज आबकारी एवं कराधान विभाग ने क्रशर फर्म पर ठोका 3.66 करोड़ जुर्माना सिक्योरिटी गार्ड के 150 पदों के लिए इंटरव्‍यू 22 अगस्त को हमीरपुर में नशे के कारोबारी का घर, होटल, वाहन व बैंक खाते सीज कांग्रेस को दोहरा झटका, विधायक पवन काजल व लखविंदर राणा भाजपा में शामिल मंडी में होगा परिवहन ट्रिब्यूनल का मुख्यालय, अधिसूचना जारी मुख्यमंत्री ने बलदेयां और कोट में उप-तहसील तथा कोटी में 33 केवी विद्युत उप-केन्द्र की घोषणा की सीएम ने ठियोग में 82 करोड़ की 19 परियोजनाओं के लोकार्पण व शिलान्यास किए
August to Sept. 22

मुश्ताक गुज्जर ने अंब में उगाए ड्रैगन फ्रूट के पौधे, डेढ़ क्विंटल पैदावार

एफ.आई.आर. लाइव डेस्क Updated on Friday, November 26, 2021 17:57 PM IST
मुश्ताक गुज्जर ने अंब में उगाए ड्रैगन फ्रूट के पौधे, डेढ़ क्विंटल पैदावार

ऊना, 25 नवंबर। मेहनत अगर की जाए, तो सब कुछ मुमकिन है। मुश्ताक गुज्जर इसी की एक मिसाल हैं। उन्होंने अंब के आदर्श नगर में ड्रैगन फ्रूट के पौधे उगाकर इस वर्ष डेढ़ क्विंटल से अधिक पैदावार ली है। इससे उन्हें काफी लाभ मिला है। शरीर को खनिज पोटाश, कैल्शियम, एंटीऑक्सिडेंट तथा एंटीएजिंग तत्व प्रदान करने वाले ड्रैगन फ्रूट की बाजार में काफी मांग है और यह ऊंचे दाम पर बिकता है। 

 

मुश्ताक गुज्जर बताते हैं "वर्तमान में अपनी लगभग आधा एकड़ भूमि पर अमेरिकन ब्यूटी तथा रेड सिमन किस्म के ड्रैगन फ्रूट की खेती कर रहा हूं। मैंने ड्रैगन फ्रूट के एक हजार से अधिक पौधे लगाए हैं। पिछले वर्ष एक क्विंटल ड्रैगन फ्रूट की पैदावार की थी और इस वर्ष लगभग डेढ़ क्विंटल ड्रैगन फ्रूट की पैदावार की है, जिसे 200 रूपये प्रति किलो के हिसाब से मार्किट में सेल की है। दिल के मरीजों के लिए यह फल वरदान है।"

 

खाने में यह फल स्ट्रॉबैरी व लीची जैसे मीठा स्वाद देता है। यह फल जितना स्वादिष्ट है, उतना ही स्वास्थ्यवर्धक भी। इंसान के शरीर में ड्रैगन फ्रूट एक दवा का काम करता है। ड्रैगन फ्रूट की खेती में मुश्ताक का परिवार भी भरपूर साथ देता है। उनके पिता रिटायर्ड सूबेदार मेजर शौकत अली गुज्जर कहते हैं "वर्ष 2019 के मार्च माह में 125 सीमेंट के पोल बनाकर 500 ड्रैगन फ्रूट के पौधे लगाए थे। सितंबर से अक्तूबर माह में फूल से फल तैयार होने में 40 दिन का समय लगता है। जबकि ठंड के मौसम में दो महीने तक का समय भी लग जाता है। ड्रैगन फ्रूट के पौधे का औसतन जीवन 25-30 वर्ष होता है। ऐसे में किसान को एक ही बार निवेश करना होता है।"

 

मुश्ताक को ड्रैगन फ्रूट की खेती में बागवानी विभाग का भरपूर सहयोग मिला। उन्होंने बताया कि विभाग की ओर से 80 प्रतिशत अनुदान पर उन्हें प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के तहत ड्रिप इरिगेशन सिस्टम प्रदान किया गया है। इसके अतिरिक्त बागवानी विभाग के अधिकारी समय-समय पर आकर तकनीकि सहायता भी देते हैं। उन्होंने बताया कि उद्यान विभाग ने ड्रैगन फ्रूट के पौधों के पोषण हेतू प्राथमिक न्यूट्रिशन तथा पौधे में लगने वाली फंगस की बीमारी से बचाव के लिए कॉपर सल्फेट व चूने के घोल से बनने वाली स्प्रे इत्यादि दवाओं के बारे में जानकारी प्रदान की है, जिससे काफी मदद मिली। वह मदद के लिए मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर व बागवानी विभाग के अधिकारियों का धन्यवाद करते हैं।

 

पावर टिलर देने का प्रस्ताव

 

वहीं बागवानी विभाग के उप-निदेशक डॉ. अशोक धीमान ने कहा कि अंब के किसान मुश्ताक अहमद ड्रैगन फ्रूट की खेती में काफी मेहनत कर रहे हैं। विभाग ने उन्हें सब्सिडी पर ड्रिप इरिगेशन सिस्टम प्रदान किया है और अब उनके काम को आसान बनाने के लिए विभाग एक पावर टिलर की खरीद पर उन्हें 50 प्रतिशत सब्सिडी भी देने जा रहा है। डॉ. धीमान ने कहा कि बागवानी विभाग प्रगतिशील किसानों को हरसंभव देने के लिए तत्पर है तथा किसान अपने नजदीकी बागवानी विभाग के कार्यालय में संपर्क कर सकते हैं।

 

बागवानों का शोषण रोकने को गठित कमेटी के अहम निर्णय, जीएसटी पर मिलेगा अनुदान

बैठक : बागवानों का शोषण रोकने को गठित कमेटी के अहम निर्णय, जीएसटी पर मिलेगा अनुदान

सेब सीजन में बागवानों का शोषण रोकने को सीएस की अध्यक्षता में गठित होगी समिति: सीएम

फैसला : सेब सीजन में बागवानों का शोषण रोकने को सीएस की अध्यक्षता में गठित होगी समिति: सीएम

आम व नींबू के लिए मंडी मध्यस्थता योजना मंजूर, 1250 मीट्रिक टन आम खरीदा जाएगा

फैसला : आम व नींबू के लिए मंडी मध्यस्थता योजना मंजूर, 1250 मीट्रिक टन आम खरीदा जाएगा

कृषि मंत्री ने प्राकृतिक कृषि पद्धति पर शोध के लिए राष्ट्रीय संसाधन केंद्र स्थापित करने का आग्रह किया

विज़न : कृषि मंत्री ने प्राकृतिक कृषि पद्धति पर शोध के लिए राष्ट्रीय संसाधन केंद्र स्थापित करने का आग्रह किया

हिमाचल में कृषि के लिए नवोन्मेषी प्रयास, 628.52 करोड़ रुपये का प्रावधान

आर्थिकी : हिमाचल में कृषि के लिए नवोन्मेषी प्रयास, 628.52 करोड़ रुपये का प्रावधान

फॉल आर्मी वर्म से मक्की के बचाव के लिए करें कौराजेन का स्प्रे, बीडीओ ऑफिस में उपलब्ध

कृषि सलाह : फॉल आर्मी वर्म से मक्की के बचाव के लिए करें कौराजेन का स्प्रे, बीडीओ ऑफिस में उपलब्ध

हिमाचल के 10 लाख किसान परिवारों को 1931.63 करोड़ के प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरित

किसान सम्मान : हिमाचल के 10 लाख किसान परिवारों को 1931.63 करोड़ के प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरित

कृषि क्षेत्र में हिमाचल करेगा देश का पथ प्रदर्शनः राज्यपाल

राष्ट्रीय कृषि विज्ञान केंद्र सम्मेलन : कृषि क्षेत्र में हिमाचल करेगा देश का पथ प्रदर्शनः राज्यपाल

VIDEO POST

View All Videos
X