Wednesday, January 19, 2022
BREAKING
चंबा-शिमला के विधायकों ने रखी अपने क्षेत्र के विकास की प्राथमिकताएं बेरोजगार वेटेरिनरी फार्मासिस्टों ने सीएम को भेजा ज्ञापन, नई पंचायतों में मिले नियुक्‍ति   पीडब्‍ल्‍यूडी बेलदार हादसे का शिकार, 4 की मौत, 3 घायल जिला कांगड़ा के विधायकों ने रखी प्राथमिकता, सीएम ने डीपीआर समयबद्ध पूर्ण करने के निर्देश दिए सराह के टॉंग लेन को कंटेनमेंट क्षेत्र घोषित किया हमीरपुर में रैपिड एंटीजन टैस्ट में 168 कोरोना पॉजिटिव डॉ. सैजल बोले, नई शिक्षा नीति युवाओं के कौशल विकास में कारगर मुख्यमंत्री धर्मशाला रोपवे के अलावा करोड़ों की योजनाओं के उद्घाटन/शिलान्यास करेंगे ऊना में मिले दो ओमिक्रॉन संक्रमित, विदेश से लौटे थे दोनों बिलासपुर एम्‍स के निकट पावर हाउस में हादसा, दो मजदूर दबे एक की मौत

मुश्ताक गुज्जर ने अंब में उगाए ड्रैगन फ्रूट के पौधे, डेढ़ क्विंटल पैदावार

एफ.आई.आर. लाइव डेस्क Updated on Friday, November 26, 2021 17:57 PM IST
मुश्ताक गुज्जर ने अंब में उगाए ड्रैगन फ्रूट के पौधे, डेढ़ क्विंटल पैदावार

ऊना, 25 नवंबर। मेहनत अगर की जाए, तो सब कुछ मुमकिन है। मुश्ताक गुज्जर इसी की एक मिसाल हैं। उन्होंने अंब के आदर्श नगर में ड्रैगन फ्रूट के पौधे उगाकर इस वर्ष डेढ़ क्विंटल से अधिक पैदावार ली है। इससे उन्हें काफी लाभ मिला है। शरीर को खनिज पोटाश, कैल्शियम, एंटीऑक्सिडेंट तथा एंटीएजिंग तत्व प्रदान करने वाले ड्रैगन फ्रूट की बाजार में काफी मांग है और यह ऊंचे दाम पर बिकता है। 

 

मुश्ताक गुज्जर बताते हैं "वर्तमान में अपनी लगभग आधा एकड़ भूमि पर अमेरिकन ब्यूटी तथा रेड सिमन किस्म के ड्रैगन फ्रूट की खेती कर रहा हूं। मैंने ड्रैगन फ्रूट के एक हजार से अधिक पौधे लगाए हैं। पिछले वर्ष एक क्विंटल ड्रैगन फ्रूट की पैदावार की थी और इस वर्ष लगभग डेढ़ क्विंटल ड्रैगन फ्रूट की पैदावार की है, जिसे 200 रूपये प्रति किलो के हिसाब से मार्किट में सेल की है। दिल के मरीजों के लिए यह फल वरदान है।"

 

खाने में यह फल स्ट्रॉबैरी व लीची जैसे मीठा स्वाद देता है। यह फल जितना स्वादिष्ट है, उतना ही स्वास्थ्यवर्धक भी। इंसान के शरीर में ड्रैगन फ्रूट एक दवा का काम करता है। ड्रैगन फ्रूट की खेती में मुश्ताक का परिवार भी भरपूर साथ देता है। उनके पिता रिटायर्ड सूबेदार मेजर शौकत अली गुज्जर कहते हैं "वर्ष 2019 के मार्च माह में 125 सीमेंट के पोल बनाकर 500 ड्रैगन फ्रूट के पौधे लगाए थे। सितंबर से अक्तूबर माह में फूल से फल तैयार होने में 40 दिन का समय लगता है। जबकि ठंड के मौसम में दो महीने तक का समय भी लग जाता है। ड्रैगन फ्रूट के पौधे का औसतन जीवन 25-30 वर्ष होता है। ऐसे में किसान को एक ही बार निवेश करना होता है।"

 

मुश्ताक को ड्रैगन फ्रूट की खेती में बागवानी विभाग का भरपूर सहयोग मिला। उन्होंने बताया कि विभाग की ओर से 80 प्रतिशत अनुदान पर उन्हें प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के तहत ड्रिप इरिगेशन सिस्टम प्रदान किया गया है। इसके अतिरिक्त बागवानी विभाग के अधिकारी समय-समय पर आकर तकनीकि सहायता भी देते हैं। उन्होंने बताया कि उद्यान विभाग ने ड्रैगन फ्रूट के पौधों के पोषण हेतू प्राथमिक न्यूट्रिशन तथा पौधे में लगने वाली फंगस की बीमारी से बचाव के लिए कॉपर सल्फेट व चूने के घोल से बनने वाली स्प्रे इत्यादि दवाओं के बारे में जानकारी प्रदान की है, जिससे काफी मदद मिली। वह मदद के लिए मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर व बागवानी विभाग के अधिकारियों का धन्यवाद करते हैं।

 

पावर टिलर देने का प्रस्ताव

 

वहीं बागवानी विभाग के उप-निदेशक डॉ. अशोक धीमान ने कहा कि अंब के किसान मुश्ताक अहमद ड्रैगन फ्रूट की खेती में काफी मेहनत कर रहे हैं। विभाग ने उन्हें सब्सिडी पर ड्रिप इरिगेशन सिस्टम प्रदान किया है और अब उनके काम को आसान बनाने के लिए विभाग एक पावर टिलर की खरीद पर उन्हें 50 प्रतिशत सब्सिडी भी देने जा रहा है। डॉ. धीमान ने कहा कि बागवानी विभाग प्रगतिशील किसानों को हरसंभव देने के लिए तत्पर है तथा किसान अपने नजदीकी बागवानी विभाग के कार्यालय में संपर्क कर सकते हैं।

 

पी.एम. कुसुम योजना के लिए नामित सरकारी विभाग में ही करें आवेदन, ठगी से बचें

अनुदान पर मिल रहे सौर पंप : पी.एम. कुसुम योजना के लिए नामित सरकारी विभाग में ही करें आवेदन, ठगी से बचें

कुटलैहड़ की बंजर धरती उगलने लगी सोना

शिवा योजना से लहलहाई फसल : कुटलैहड़ की बंजर धरती उगलने लगी सोना

1.54 लाख किसान परिवारों ने प्राकृतिक खेती अपनाई: जय राम ठाकुर

राष्ट्रीय सम्मेलन : 1.54 लाख किसान परिवारों ने प्राकृतिक खेती अपनाई: जय राम ठाकुर

बजट सत्र में सरकार लाएगी चाय नीति: वीरेन्द्र कंवर

स्वर्ण जयंती चाय मेला : बजट सत्र में सरकार लाएगी चाय नीति: वीरेन्द्र कंवर

मुख्यमंत्री खेत संरक्षण योजना से 4669 हेक्टेयर बंजर भूमि में बहार

175 करोड़ से 5535 किसान लाभान्वित : मुख्यमंत्री खेत संरक्षण योजना से 4669 हेक्टेयर बंजर भूमि में बहार

कृषकों को प्रशिक्षित कर नई तकनीक अपनाने को प्रेरित करें:सीएम

बागवानी एवं वानिकी विवि का स्थापना दिवस : कृषकों को प्रशिक्षित कर नई तकनीक अपनाने को प्रेरित करें:सीएम

राज्यपाल ने प्राकृतिक खेती के उत्पादों की सर्टिफिकेशन पर बल दिया

ऊना दौरा   : राज्यपाल ने प्राकृतिक खेती के उत्पादों की सर्टिफिकेशन पर बल दिया

रोजगार मांगने वाले नहीं देने वाले बन रहे युवा:राजेंद्र गर्ग

एचपी शिवा योजना : रोजगार मांगने वाले नहीं देने वाले बन रहे युवा:राजेंद्र गर्ग

VIDEO POST

View All Videos