Wednesday, February 08, 2023
BREAKING
समुचित बजट प्रावधान करके लागू की पुरानी पेंशन योजना: मुख्यमंत्री श्रीमद्भगवद्गीता की प्रेरणा से अपनी कर्मनीति बना आगे बढ़ रही सरकार: सुक्खू मुख्यमंत्री ने नादौन और हमीरपुर विस क्षेत्र की विकासात्मक परियोजनाओं की समीक्षा की तुर्की के भूकंप प्रभावित के लिए एनडीआरएफ की दो टीम तैनात केवल सिंह पठानिया ने रैत स्कूल में नवाज़े होनहार कंप्यूटर हार्डवेयर सर्विस और मेंटेनेंस विषय पर 30 दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम 9 से जन कल्याणकारी योजनाओं के प्रभावी प्रचार-प्रसार में नवीनतम माध्यमों का करें प्रयोग: संजय अवस्थी कारों की बैटिरयां चुराने वाला गिरोह दबोचा, 28 बैटरियां बरामद विश्व बैंक ने हिमाचल में वित्‍त पोषित परियोजनाओं की समीक्षा की विश्व बैंक की हिमाचल के 2500 करोड़ रुपये के ग्रीन रेजीलिएंट इंटेग्रेटिड प्रोग्राम में रूचि
OPS Advt

प्राकृतिक आपदा से प्रभावितों को 24 घंटे के भीतर मिलेंगे 25 हजार, बाकी सहायता 4 दिन में

एफ.आई.आर. लाइव डेस्क Updated on Saturday, January 07, 2023 19:39 PM IST
प्राकृतिक आपदा से प्रभावितों को 24 घंटे के भीतर मिलेंगे 25 हजार, बाकी सहायता 4 दिन में

शिमला,07 जनवरी। वर्तमान प्रदेश सरकार ने मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू के कुशल नेतृत्व में अपने सामाजिक सरोकार के दायित्व का निर्वहन करते हुए नवोन्मेषी पहल की है। प्रदेश सरकार ने अधिसूचित प्राकृतिक आपदा से प्रभावित परिवारों को 25 हजार रुपये की सहायता राशि तुरंत जारी करने के निर्देश दिए हैं। इस संदर्भ में जरूरी दिशा-निर्देश जारी कर दिए गए हैं।

निदेशक एवं विशेष सचिव राजस्व सुदेश मोक्टा ने आज यहां बताया कि प्राकृतिक आपदा के कारण मृत्यु होने पर मृतक के निकटस्थ सम्बन्धी को 24 घंटे के भीतर सहायता राशि जारी करने के निर्देश दिए गए हैं। प्राकृतिक आपदा के कारण मृत्यु होने पर मृतक के परिजनों को चार लाख रुपये की सहायता राशि प्रदान करने का प्रावधान है। इसमें से 25 हजार रुपये की सहायता राशि 24 घंटे के भीतर और शेष राशि भी चार दिन के भीतर जारी कर दी जाएगी। पूर्व में यह राशि जारी होने में अधिक समय लगता था।

 

उन्होंने कहा कि प्राकृतिक आपदा से प्रभावित गंभीर रूप से घायल व्यक्तियों यदि वह आयुष्मान भारत योजना के तहत कवर नहीं होते हैं, तो उन्हें न्यूनतम 5000 रुपये की सहायता राशि प्रदान करने के निर्देश दिए हैं।

सुखविंदर सिंह सुक्खू ने मुख्यमंत्री का पदभार ग्रहण करने के उपरांत सामाजिक दायित्वों के निर्वहन को सर्वोच्च अधिमान दिया है। बात चाहे, विभिन्न संस्थाओं के आवासियों को उत्सव अनुदान की हो या फिर उनकी उच्च शिक्षा के लिए महत्वाकांक्षी योजना ‘मुख्यमंत्री सुखाश्रय सहायता कोष’ के गठन की। प्रदेश सरकार ने अपने निर्णयों से साबित किया कि सरकार समाज के वंचित और जरूरतमंद वर्गों के कल्याण के लिए प्रतिबद्ध है।

जन कल्याणकारी योजनाओं के प्रभावी प्रचार-प्रसार में नवीनतम माध्यमों का करें प्रयोग: संजय अवस्थी

बैठक : जन कल्याणकारी योजनाओं के प्रभावी प्रचार-प्रसार में नवीनतम माध्यमों का करें प्रयोग: संजय अवस्थी

विश्व बैंक ने हिमाचल में वित्‍त पोषित परियोजनाओं की समीक्षा की

बैठक : विश्व बैंक ने हिमाचल में वित्‍त पोषित परियोजनाओं की समीक्षा की

विश्व बैंक की हिमाचल के 2500 करोड़ रुपये के ग्रीन रेजीलिएंट इंटेग्रेटिड प्रोग्राम में रूचि

सौर ऊर्जा : विश्व बैंक की हिमाचल के 2500 करोड़ रुपये के ग्रीन रेजीलिएंट इंटेग्रेटिड प्रोग्राम में रूचि

यूविन पोर्टल के माध्यम से होगी बच्चों के वैक्सीनेशन की निगरानी

पायलट प्रोजेक्ट : यूविन पोर्टल के माध्यम से होगी बच्चों के वैक्सीनेशन की निगरानी

हिमाचल के शहरों में 1,90,796 टन अपशिष्ट कचरा, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड सख्‍त

समस्‍या : हिमाचल के शहरों में 1,90,796 टन अपशिष्ट कचरा, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड सख्‍त

5 आईएएस औश्र 9 एचएएस अधिकारियों के तबादले, संदीप कदम होंगे डिवकॉम मंडी

आदेश : 5 आईएएस औश्र 9 एचएएस अधिकारियों के तबादले, संदीप कदम होंगे डिवकॉम मंडी

इलेक्‍ट्रिक वाहन उपयोग करने वाला देश का पहला सरकारी विभाग बना हिमाचल का परिवहन विभाग

अभियान : इलेक्‍ट्रिक वाहन उपयोग करने वाला देश का पहला सरकारी विभाग बना हिमाचल का परिवहन विभाग

मुख्यमंत्री के निर्देश पर बीमार महिला को लाहौल से एयर लिफ्ट किया गया

मानवीय : मुख्यमंत्री के निर्देश पर बीमार महिला को लाहौल से एयर लिफ्ट किया गया

VIDEO POST

View All Videos
X