Thursday, August 18, 2022
BREAKING
ओबीसी आयोग अध्यक्ष ने शहरी इलाकों में ओबीसी जनसंख्‍या के सही आकलन के आदेश दिए मिड-डे मील योजना के तहत 3711.10 लाख रुपये जारी सीएम इंदौरा-फतेहपुर में 18 अगस्‍त को करेंगे हिमाचल स्थापना के 75 वर्ष समारोह का आगाज आबकारी एवं कराधान विभाग ने क्रशर फर्म पर ठोका 3.66 करोड़ जुर्माना सिक्योरिटी गार्ड के 150 पदों के लिए इंटरव्‍यू 22 अगस्त को हमीरपुर में नशे के कारोबारी का घर, होटल, वाहन व बैंक खाते सीज कांग्रेस को दोहरा झटका, विधायक पवन काजल व लखविंदर राणा भाजपा में शामिल मंडी में होगा परिवहन ट्रिब्यूनल का मुख्यालय, अधिसूचना जारी मुख्यमंत्री ने बलदेयां और कोट में उप-तहसील तथा कोटी में 33 केवी विद्युत उप-केन्द्र की घोषणा की सीएम ने ठियोग में 82 करोड़ की 19 परियोजनाओं के लोकार्पण व शिलान्यास किए
August to Sept. 22

थाने पहुंचा अफसरों का दंगल, एचएएस ने खाद्य आयोग के चेयरमैन को पीटा

एफ.आई.आर. लाइव डेस्क Updated on Wednesday, June 29, 2022 13:56 PM IST
थाने पहुंचा अफसरों का दंगल, एचएएस ने खाद्य आयोग के चेयरमैन को पीटा

शिमला,29 जून। हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में एक बार फिर से अफसरों का दंगल चर्चा का विषय बना है। इतना ही नहीं इस बार दो अफसरों के बीच हुई मारपीट पुलिस थाने पहुंच गई है। मिली जानकारी के अनुसार राज्‍य खाद्य आयोग के चेयरमैन ने आयोग के ही सचिव एवं वरिष्‍ठ एचएएस अधिकारी केआर सैजल पर मारपीट के आरोप लगाए हैं। पुलिस ने उनकी शिकायत पर एफआईआर दर्ज करके छानबीन शुरू कर दी है।

 

मिली जानकारी के अनुसार यह घटना 27 जून की है। रमेश चंद गंगोत्रा पुत्र जगत राम वीपीओ भद्रकाली, तहसील घानारी एवं जिला ऊना ने पुलिस को दी लिखित शिकायत में कहा है कि 27 जून को करीब सुबह 11 बजे वह अपने कार्यालय में उपस्थित थे, तो उस दौरान राज्य खाद्य आयोग के सचिव केआर सैजल उनके ऑफिस में आए और उन्‍हें पीटना शुरू कर दिया। इस मारपीट में उसके नाक, मुंह और होंठ पर चोटें आई हैं। इस संबंध में छोटा शिमला थाने में आईपीसी की धारा 353 व 332 के तहत मामला दर्ज किया गया है और हेड कांस्टेबल नरेश कुमार को जांच का जिम्मा सौंपा गया है।

 

यह मारपीट क्‍यों की गई और इसके पीछे क्‍या-क्‍या कारण रहे हैं, इनका खुलासा पुलिस जांच के बाद ही हो पाएगा। फिलहाल सूचना है कि पुलिस इस संबंध में आज दोनों से इस मामले में पूछताछ कर सकती है। बताया जा रहा है कि दोनों के बयान दर्ज करने के बाद आगामी कार्रवाई की जाएगी। उधर, इस मामले के बाद एक बार फिर से जयराम सरकार की किरकिरी होने की बात कही जा रही है। वहीं विपक्ष के हाथ भी एक नया मुद्दा लग सकता है।

VIDEO POST

View All Videos
X