Tuesday, November 30, 2021
BREAKING
पहली दिसंबर से बारिश और बर्फबारी के आसार हिमाचल को देश का सबसे पसंदीदा पर्यटन गंतव्य बनाने को कृतसंकल्पःसीएम पुलिस कर्मियों के अनुबंध का मामला सीएम के समक्ष से उठाया: सत्ती निम्‍न शिवालिक पर्वत श्रृंखला की जैव-विविधता के दस्तावेजीकरण की जरूरत मुख्यमंत्री ने धर्मपुर में 381 करोड़ के लोकार्पण एवं शिलान्यास किए रेलवे ट्रैक पर जा रहा कॉलेज छात्र ट्रेन की चपेट में आया, मौत बिलासपुर का एमवीआई, मंडी के 2 एजेंटों समेत रिश्‍वत लेने के आरोप में धरा बरमाणा में चिट्टे समेत दबोचे कार सवार दो युवक हिमाचल में फिल्म उद्योग को आकर्षित करने के लिए प्रयासरतः मुख्यमंत्री राज्यपाल ने मां चिंतपूर्णी मंदिर में टेका माथा, आरोग्य भारती के अधिवेशन में शिरकत

टाटा संस ने एयर इंडिया के लिए लगाई सबसे बड़ी बोली,अभी सरकार ने नहीं दी मंजूरी

एफ.आई.आर. लाइव डेस्क Updated on Friday, October 01, 2021 16:24 PM IST
टाटा संस ने एयर इंडिया के लिए लगाई सबसे बड़ी बोली,अभी सरकार ने नहीं दी मंजूरी

नई दिल्ली, 01 अक्टूबर। टाटा संस कर्ज में डूबी सरकारी विमानन कंपनी एयर इंडिया के अधिग्रहण के लिए शीर्ष बोलीदाता के रूप में उभरी है, लेकिन सूत्रों ने बताया कि बोली को अभी तक गृह मंत्री अमित शाह की अध्यक्षता वाले मंत्रियों के समूह (जीओएम) ने मंजूरी नहीं दी है। इस मामले के जानकार सूत्रों ने कहा कि टाटा संस और स्पाइसजेट के प्रवर्तक अजय सिंह की वित्तीय बोलियों को कुछ दिन पहले खोला गया और बुधवार को कैबिनेट सचिव की अध्यक्षता में विनिवेश पर सचिवों के मुख्य समूह ने इसकी जांच की।

 

उन्होंने बताया कि आरक्षित निर्धारित मूल्य के मुकाबले बोलियों का मूल्यांकन किया गया और पाया गया कि टाटा की बोली सबसे ऊंची है। उन्होंने कहा कि अब इसे एयर इंडिया के निजीकरण के लिए गठित शाह के नेतृत्व वाले मंत्रियों के समूह के सामने रखा जाएगा। वित्त मंत्रालय और टाटा संस ने इस पर टिप्पणी करने से इनकार किया।

 

इस बीच निवेश और सार्वजनिक संपत्ति प्रबंधन विभाग के सचिव तुहिन कांत पांडेय ने एक ट्वीट में कहा कि सरकार ने अभी तक एयर इंडिया के लिए वित्तीय बोलियों को मंजूरी नहीं दी है। उन्होंने ट्वीट किया कि ‘एयर इंडिया विनिवेश मामले में भारत सरकार द्वारा वित्तीय बोलियों को मंजूरी देने वाली मीडिया रिपोर्ट गलत हैं। मीडिया को सरकार के फैसले के बारे में बताया जाएगा।’

 

यदि टाटा संस की बोली स्वीकार कर ली जाती है, तो वह उस राष्ट्रीय विमान वाहक का अधिग्रहण कर लेगा, जिसकी स्थापना उसने ही की थी। जहांगीर रतनजी दादाभाई (जेआरडी) टाटा ने 1932 में एयरलाइन की स्थापना की थी। उस समय इस विमानन कंपनी को टाटा एयरलाइंस कहा जाता था।

अक्टूबर में जीएसटी संग्रह बढ़कर 1.30 लाख करोड़ हुआ

सरकार मालामाल : अक्टूबर में जीएसटी संग्रह बढ़कर 1.30 लाख करोड़ हुआ

पेट्रोल-डीजल से सरकार की मोटी कमाई, पहली छमाही में जुटाए 1.71 लाख करोड़

उत्‍पाद शुल्‍क : पेट्रोल-डीजल से सरकार की मोटी कमाई, पहली छमाही में जुटाए 1.71 लाख करोड़

हीरो इलेक्ट्रिक बिक्री नेटवर्क का विस्तार करेगी

300 नए बिक्री केंद्र खुलेंगे : हीरो इलेक्ट्रिक बिक्री नेटवर्क का विस्तार करेगी

फिर बढ़े दाम, 18 माह में पेट्रोल 36, डीजल 26.58 रुपये लीटर महंगा हुआ

तेल में आग : फिर बढ़े दाम, 18 माह में पेट्रोल 36, डीजल 26.58 रुपये लीटर महंगा हुआ

जियो ने अगस्त में 6.49 लाख, एयरटेल ने 1.38 लाख नए मोबाइल ग्राहक जोड़े

ट्राई के आंकड़े : जियो ने अगस्त में 6.49 लाख, एयरटेल ने 1.38 लाख नए मोबाइल ग्राहक जोड़े

डॉट ने एयरटेल, वीआईएल पर 3,050 करोड़ का जुर्माना ठोका, कोर्ट जाएंगी एयरटेल

नियामक कार्रवाई : डॉट ने एयरटेल, वीआईएल पर 3,050 करोड़ का जुर्माना ठोका, कोर्ट जाएंगी एयरटेल

सेंसेक्स ने 8 महीनों में पूरा किया 50 हजार से 60 हजार का सफर

बाजार का कीर्तिमान : सेंसेक्स ने 8 महीनों में पूरा किया 50 हजार से 60 हजार का सफर

जी एंटरटेनमेंट, सोनी इंडिया ने विलय की घोषणा की, पुनीत गोयनका करेंगे नेतृत्व

बिजनेस डील : जी एंटरटेनमेंट, सोनी इंडिया ने विलय की घोषणा की, पुनीत गोयनका करेंगे नेतृत्व

VIDEO POST

View All Videos