Wednesday, February 08, 2023
BREAKING
समुचित बजट प्रावधान करके लागू की पुरानी पेंशन योजना: मुख्यमंत्री श्रीमद्भगवद्गीता की प्रेरणा से अपनी कर्मनीति बना आगे बढ़ रही सरकार: सुक्खू मुख्यमंत्री ने नादौन और हमीरपुर विस क्षेत्र की विकासात्मक परियोजनाओं की समीक्षा की तुर्की के भूकंप प्रभावित के लिए एनडीआरएफ की दो टीम तैनात केवल सिंह पठानिया ने रैत स्कूल में नवाज़े होनहार कंप्यूटर हार्डवेयर सर्विस और मेंटेनेंस विषय पर 30 दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम 9 से जन कल्याणकारी योजनाओं के प्रभावी प्रचार-प्रसार में नवीनतम माध्यमों का करें प्रयोग: संजय अवस्थी कारों की बैटिरयां चुराने वाला गिरोह दबोचा, 28 बैटरियां बरामद विश्व बैंक ने हिमाचल में वित्‍त पोषित परियोजनाओं की समीक्षा की विश्व बैंक की हिमाचल के 2500 करोड़ रुपये के ग्रीन रेजीलिएंट इंटेग्रेटिड प्रोग्राम में रूचि
OPS Advt

संत रविदास की शिक्षाएं वर्तमान परिपेक्ष्य में और भी प्रासंगिक:राज्यपाल

एफ.आई.आर. लाइव डेस्क Updated on Sunday, January 22, 2023 18:49 PM IST
संत रविदास की शिक्षाएं वर्तमान परिपेक्ष्य में और भी प्रासंगिक:राज्यपाल

संतोषगढ़(ऊना),22 जनवरी। हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल राजेंद्र विश्वनाथ आर्लेकर ने कहा कि संत गुरू रविदास जी किसी एक समुदाय से सम्बंधित नहीं थे बल्कि उनकी शिक्षाएं पूरी मानवता के लिए थीं जोकि आज प्रासंगिक हैं। उन्होंने लोगों से भेदभाव मुक्त समाज के निर्माण के लिए संत रविदास की शिक्षाओं का पालन करने का आग्रह किया।

राज्यपाल आज जिला ऊना के संतोषगढ़ के प्रसिद्ध जोड़ मेला में जनसभा को सम्बोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि जोड़ मेला ऐतिहासिक है जिसका इतिहास संघर्षपूर्ण रहा है। उन्होंने कहा कि वह सभी व्यक्ति जिन्होंने इस मंदिर के निर्माण के लिए संघर्ष किया है वह सभी के लिए सम्मानीय हैं। उन्होंने मंदिर समिति से आह्वान किया कि वह इस संघर्ष की कहानी को पुस्तक के रूप में प्रकाशित करवाएं ताकि आने वाली पीढ़ियां इस इतिहास को जान सकें।

राज्यपाल ने कहा कि संत रविदास ने जीवन भर समाज में भेदभाव को दूर करने का भरसक प्रयास किया। उन्होंने पूरे समाज को एकजुट होने की शिक्षा दी। उन्हांेने जिन विषयों को समाज के सामने रखा, वह समाज को जोड़ने का कार्य करते हैं। उन्होंने कहा कि संत रविदास की शिक्षाएं हमें एक साथ रह कर एक आदर्श समाज का निर्माण करने के लिए प्रेरित करती हैं।

 

उन्होंने कहा कि संत रविदास के विचार राष्ट्र के लिए हैं और वह राष्ट्रीय संत हैं। उनकी शिक्षाओं को जीवन में ग्रहण करने की आवश्यकता है। राज्यपाल ने इस अवसर पर मंदिर निर्माण के संघर्ष काल में जुड़े व्यक्तियांे को सम्मानित किया। उन्होंने संत रविदास जोड़ मेला के संस्थापक शिंगारा राम संगुड़ा के परिजनों को भी सम्मानित किया। इससे पूर्व राज्यपाल ने संत रविदास के मंदिर में माथा टेका।

गुरू रविदास जोड़ मेला समिति के अध्यक्ष बलवंत सिंह ने इस अवसर पर राज्यपाल का स्वागत किया। विधायक सतपाल सत्ती ने धन्यवाद प्रस्ताव प्रस्तुत किया। उपायुक्त ऊना राघव शर्मा, समन्वयक मेला समिति बलवीर बग्गा, प्रभारी मेला समिति कुंवर जागीर संगुड़ा, प्रधान संत रविदास धार्मिक सभा संतोषगढ़ बलवीर सिंह, आद धर्म मिशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष संत हीरा दास और अन्य गणमान्य व्यक्ति भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

समुचित बजट प्रावधान करके लागू की पुरानी पेंशन योजना: मुख्यमंत्री

ऊना में स्वागत : समुचित बजट प्रावधान करके लागू की पुरानी पेंशन योजना: मुख्यमंत्री

श्रीमद्भगवद्गीता की प्रेरणा से अपनी कर्मनीति बना आगे बढ़ रही सरकार: सुक्खू

धार्मिक समागम : श्रीमद्भगवद्गीता की प्रेरणा से अपनी कर्मनीति बना आगे बढ़ रही सरकार: सुक्खू

लोगों की समस्याओं का त्वरित समाधान प्राथमिकता: मुकेश अग्निहोत्री

राहत : लोगों की समस्याओं का त्वरित समाधान प्राथमिकता: मुकेश अग्निहोत्री

डिप्‍टी सीएम मुकेश अग्निहोत्री ने संत बाबा बाल जी का लिया आशीर्वाद, भव्य शोभा यात्रा में हुए शामिल

प्रवचन : डिप्‍टी सीएम मुकेश अग्निहोत्री ने संत बाबा बाल जी का लिया आशीर्वाद, भव्य शोभा यात्रा में हुए शामिल

प्रदेश का सर्वांगीण विकास राज्य सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता: मुकेश अग्निहोत्री

आभार उत्‍सव : प्रदेश का सर्वांगीण विकास राज्य सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता: मुकेश अग्निहोत्री

निजी स्कूलों में कमजोर बच्चों को 25 प्रतिशत आरक्षण के लिए हाईकोर्ट के निर्देशों का हो पालन

अनुपालना : निजी स्कूलों में कमजोर बच्चों को 25 प्रतिशत आरक्षण के लिए हाईकोर्ट के निर्देशों का हो पालन

उपमुख्यमंत्री मुकेश अग्निहोत्री ने किया फुटबॉल प्रतियोगिता का शुभारंभ, जनसमस्‍याएं सुनीं

आयोजन : उपमुख्यमंत्री मुकेश अग्निहोत्री ने किया फुटबॉल प्रतियोगिता का शुभारंभ, जनसमस्‍याएं सुनीं

राज्यपाल ने विद्यार्थियों को नैतिक शिक्षा प्रदान करने पर बल दिया

संबोधन : राज्यपाल ने विद्यार्थियों को नैतिक शिक्षा प्रदान करने पर बल दिया

VIDEO POST

View All Videos
X