Wednesday, February 08, 2023
BREAKING
समुचित बजट प्रावधान करके लागू की पुरानी पेंशन योजना: मुख्यमंत्री श्रीमद्भगवद्गीता की प्रेरणा से अपनी कर्मनीति बना आगे बढ़ रही सरकार: सुक्खू मुख्यमंत्री ने नादौन और हमीरपुर विस क्षेत्र की विकासात्मक परियोजनाओं की समीक्षा की तुर्की के भूकंप प्रभावित के लिए एनडीआरएफ की दो टीम तैनात केवल सिंह पठानिया ने रैत स्कूल में नवाज़े होनहार कंप्यूटर हार्डवेयर सर्विस और मेंटेनेंस विषय पर 30 दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम 9 से जन कल्याणकारी योजनाओं के प्रभावी प्रचार-प्रसार में नवीनतम माध्यमों का करें प्रयोग: संजय अवस्थी कारों की बैटिरयां चुराने वाला गिरोह दबोचा, 28 बैटरियां बरामद विश्व बैंक ने हिमाचल में वित्‍त पोषित परियोजनाओं की समीक्षा की विश्व बैंक की हिमाचल के 2500 करोड़ रुपये के ग्रीन रेजीलिएंट इंटेग्रेटिड प्रोग्राम में रूचि
OPS Advt

येदियुरप्पा ने कर्नाटक के राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौंपा

एफ.आई.आर. लाइव डेस्क Updated on Monday, July 26, 2021 16:38 PM IST
येदियुरप्पा ने कर्नाटक के राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौंपा

बेंगलुरु, 26 जुलाई। बीएस येदियुरप्पा ने कर्नाटक के मुख्यमंत्री पद से अपना इस्तीफा सोमवार को राज्यपाल थावरचंद गहलोत को सौंप दिया। येदियुरप्पा ने राजभवन में गहलोत को इस्तीफा सौंपा। उन्होंने बताया कि उनका त्याग पत्र स्वीकार कर लिया गया है। इससे कुछ ही घंटों पहले, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के 78 वर्षीय नेता ने कहा था कि वह मध्याह्न भोजन के बाद राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौंप देंगे। येदियुरप्पा ने भावुक होते हुए एवं रुंधे गले से कहा था कि ‘मेरी बात को अन्यथा मत लीजिएगा, आपकी अनुमति से, मैंने फैसला किया है कि मैं मध्याह्न भोजन के बाद राजभवन जाऊंगा और मुख्यमंत्री पद से अपना इस्तीफा राज्यपाल को सौपूंगा।’ उन्होंने कहा था कि ‘मैं दु:खी होकर नहीं, बल्कि खुशी से ऐसा कर रहा हूं।’

 

 

येदियुरप्पा ने 75 साल से अधिक आयु होने के बावजूद उन्हें दो साल मुख्यमंत्री के रूप में सेवा करने का अवसर देने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा का धन्यवाद किया। भाजपा में 75 वर्ष से अधिक आयु के लोगों को निर्वाचित कार्यालयों से बाहर रखने का अलिखित नियम है। मुख्यमंत्री ने कहा कि वह केंद्रीय नेताओं की उम्मीदों के मुताबिक पार्टी को मजबूत करने के लिए काम करेंगे। येदियुरप्पा ने यहां विधान सौध में अपनी सरकार के दो साल पूरे होने के उपलक्ष्य में आयोजित एक कार्यक्रम में यह बात कही।

 

 

येदियुरप्पा ने भाषण के दौरान कहा कि उन्होंने दो साल कठिन परिस्थितियों में राज्य सरकार का नेतृत्व किया। उन्होंने कहा कि उन्हें शुरुआती दिनों में मंत्रिमंडल के बिना प्रशासन चलाना पड़ा और इसके बाद राज्य को विनाशकारी बाढ़ और कोरोना वायरस समेत कई समस्याएं झेलनी पड़ीं।

VIDEO POST

View All Videos
X