Tuesday, November 30, 2021
BREAKING
पहली दिसंबर से बारिश और बर्फबारी के आसार हिमाचल को देश का सबसे पसंदीदा पर्यटन गंतव्य बनाने को कृतसंकल्पःसीएम पुलिस कर्मियों के अनुबंध का मामला सीएम के समक्ष से उठाया: सत्ती निम्‍न शिवालिक पर्वत श्रृंखला की जैव-विविधता के दस्तावेजीकरण की जरूरत मुख्यमंत्री ने धर्मपुर में 381 करोड़ के लोकार्पण एवं शिलान्यास किए रेलवे ट्रैक पर जा रहा कॉलेज छात्र ट्रेन की चपेट में आया, मौत बिलासपुर का एमवीआई, मंडी के 2 एजेंटों समेत रिश्‍वत लेने के आरोप में धरा बरमाणा में चिट्टे समेत दबोचे कार सवार दो युवक हिमाचल में फिल्म उद्योग को आकर्षित करने के लिए प्रयासरतः मुख्यमंत्री राज्यपाल ने मां चिंतपूर्णी मंदिर में टेका माथा, आरोग्य भारती के अधिवेशन में शिरकत

भारत, इटली में हरित हाइड्रोजन, गैस क्षेत्रों में मिलकर काम करने की सहमति

एफ.आई.आर. लाइव डेस्क Updated on Saturday, October 30, 2021 16:52 PM IST
भारत, इटली में हरित हाइड्रोजन, गैस क्षेत्रों में मिलकर काम करने की सहमति

रोम/नई दिल्ली, 30 अक्तूबर। भारत और इटली के बीच हरित हाइड्रोजन के विकास, नवीकरणीय ऊर्जा गलियारे की स्थापना तथा प्राकृतिक गैस क्षेत्र में संयुक्त परियोजनाओं पर मिलकर काम करने की सहमति बनी है। दोनों देश ऊर्जा क्षेत्र में आ रहे बदलावों को लेकर अपनी भागीदारी को मजबूत करने पर सहमत हुए हैं।

 

रोम में जी20 शिखर सम्मेलन के इतर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तथा इटली के उनके समकक्ष मारियो ड्रैगी के बीच पहली आमने-सामने की बैठक के बाद जारी संयुक्त वक्तव्य में यह जानकारी दी गई है। वक्तव्य में कहा गया है कि दोनों नेताओं के बीच भारत और इटली की कंपनियों में ऊर्जा बदलाव से संबंधित क्षेत्रों में संयुक्त निवेश को प्रोत्साहन देने की सहमति बनी।

 

दोनों नेता भारत में हरित हाइड्रोजन और संबंधित प्रौद्योगिकी के विकास और उसकी स्थापना के लिए ‘बातचीत’ शुरू करने को राजी हुए। इसके अलावा मोदी और ड्रैगी ने भारत में बड़े आकार की हरित गलियारा परियोजना के लिए साथ मिलकर काम करने पर विचार किया। इसका मकसद भारत के 2030 तक 450 गीगावॉट की एकीकृत नवीकरणीय ऊर्जा उत्पादन के लक्ष्य का लाभ उठाना है।

 

इसके अलावा दोनों पक्षों के बीच प्राकृतिक गैस क्षेत्र, कॉर्बन घटाने के लिए प्रौद्योगिकी से संबंधित नवप्रवर्तन, स्मार्ट शहर और अन्य संबंधित क्षेत्रों में इटली और भारत की कंपनियों को संयुक्त परियोजनाएं बनाने के लिए प्रोत्साहन देने पर भी सहमति बनी। भारत ने सौर, पवन और अन्य स्रोतों से 2030 तक 450 गीगावॉट नवीकरणीय ऊर्जा उत्पादन का लक्ष्य रखा है। इसके अलावा भारत का अपने कुल ऊर्जा उपभोग में प्राकृतिक गैस का इस्तेमाल 2030 तक बढ़ाकर 15 प्रतिशत करने का भी लक्ष्य है।

 

इसके साथ ही भारत सभी स्रोतों से हाइड्रोजन उत्पादन बढ़ाने पर भी ध्यान दे रहा है। संयुक्त बयान में कहा गया है कि ऊर्जा क्षेत्र में सहयोग के लिए 30 अक्टूबर, 2017 को सहमति ज्ञापन के जरिये संयुक्त कार्यसमूह बनाया गया था। यह कार्यसमूह स्मार्ट शहर, मोबिलिटी और स्मार्ट ग्रिड जैसे क्षेत्रों में सहयोग की संभावना तलाशेगा।

ग्‍लासगो में हुआ जलवायु समझौता, जीवाश्म ईंधन पर भारत का हस्तक्षेप

सीओपी26 शिखर सम्मेलन : ग्‍लासगो में हुआ जलवायु समझौता, जीवाश्म ईंधन पर भारत का हस्तक्षेप

ग्लोबल वार्मिंग में भविष्य में थोड़ी कमी आने के आसार

वैज्ञानिक विश्लेषण : ग्लोबल वार्मिंग में भविष्य में थोड़ी कमी आने के आसार

अमेरिकी राष्ट्रपति ने प्रथम महिला संग व्‍हाइट हाउस में जलाए दीए

दिवाली की शुभकामनाएं दीं : अमेरिकी राष्ट्रपति ने प्रथम महिला संग व्‍हाइट हाउस में जलाए दीए

प्रधानमंत्री मोदी ब्रिटेन में भारत का जलवायु कार्रवाई एजेंडा पेश करेंगे

सीओपी26 : प्रधानमंत्री मोदी ब्रिटेन में भारत का जलवायु कार्रवाई एजेंडा पेश करेंगे

पीएम मोदी के ब्रिटेन दौरे से द्विपक्षीय संबंध नए युग की दहलीज पर

ब्रिटेन के पीएम से होगा संवाद : पीएम मोदी के ब्रिटेन दौरे से द्विपक्षीय संबंध नए युग की दहलीज पर

पीएम मोदी ने कैथोलिक चर्च प्रमुख पोप फ्रांसिस से मुलाकात की

आमने-सामने की पहली बैठक : पीएम मोदी ने कैथोलिक चर्च प्रमुख पोप फ्रांसिस से मुलाकात की

अमेरिकी सांसद बोले, हिंदू-अमेरिकी संस्कृति ने अमेरिका को समृद्ध बनाया

अमेरिकी संसद में दीपावली : अमेरिकी सांसद बोले, हिंदू-अमेरिकी संस्कृति ने अमेरिका को समृद्ध बनाया

सऊदी अरब के पूर्व अधिकारी ने क्राउन प्रिंस के खिलाफ लगाए गंभीर आरोप

साक्षात्‍कार : सऊदी अरब के पूर्व अधिकारी ने क्राउन प्रिंस के खिलाफ लगाए गंभीर आरोप

VIDEO POST

View All Videos