Thursday, June 20, 2024
BREAKING
डॉ राजेश शर्मा को सीएम आवास में बंधक बनाकर बात मनवाना शर्मनाक:जयराम ठाकुर श्रीलंका में जाइका प्रोजेक्ट का मॉडल बनेगा हिमाचल, धर्मशाला-पालमपुर पहुंचे 11 प्रतिनिधि बिकने के बाद भाजपा के गुलाम हुए 3 पूर्व निर्दलीय विधायक: मुख्यमंत्री सरकार की तनाशाही के कारण निर्दलीय विधायकों को देना पड़ा इस्तीफ़ा: जयराम ठाकुर कांग्रेस ने देहरा विस उपचुनाव में सीएम की पत्‍नी कमलेश ठाकुर को मैदान में उतारा सरकारी विभागों में 6630 पद भरेे जाएंगे, कांस्‍टेबल भर्ती की आयु सीमा में 1 साल की छूट कण्डाघाट में दिव्यांगजनों के लिए स्थापित होगा सेंटर ऑफ एक्सीलेंस: मुख्यमंत्री कहां गई सुक्खू सरकार की स्टार्टअप योजना: जयराम ठाकुर मुख्यमंत्री ने एनआरआई दम्पति पर हमले की कड़ी निंदा की, कार्रवाई के निर्देश गलत साइड से ओवरटेक करते ट्रक से टकराई बाइक, युवक की मौत
 

कुल्लू में लोक संस्‍कृति व पर्यावरण पर आधारित अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन शुरू

एफ.आई.आर. लाइव डेस्क Updated on Saturday, October 29, 2022 18:01 PM IST
कुल्लू में लोक संस्‍कृति व पर्यावरण पर आधारित अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन शुरू

कुल्‍लू, 29 अक्‍तूबर। हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल राजेंद्र विश्वनाथ आर्लेकर ने आज जिला कुल्लू के देव सदन में रूपी-सराज कला मंच, हिमाचल कला, भाषा एवं संस्कृति अकादमी और संस्कार भारती हिमाचल प्रदेश के संयुक्त तत्त्वावधान में आयोजित दो दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन का शुभारंभ किया। इस अवसर पर उन्होंने भारत की समृद्ध संस्कृति और उच्च परम्पराओं की विभिन्न आयामों को प्रदर्शित करने की आवश्यकता पर बल देते हुए कहा कि हमें इन परम्पराओं को पुनर्स्थापित करने के लिए काम करना चाहिए।

 

आर्लेकर ने कहा कि प्रत्येक राष्ट्र के अस्तित्व का एक उद्देश्य होता है और हमारी परम्पराओं ने पूरी दुनिया को शिक्षित किया है। संपूर्ण विश्व हमारे विचारों, अस्तित्व, धरोहर और परम्पराओं से सीख रहा है परंतु दासता वाली मानसिकता ने हमें हमारी परंपराओं से दूर कर दिया है। अब समय है कि हम वैचारिक स्वतंत्रता की ओर अग्रसर हों। उन्होंने कहा कि इस प्रकार के सम्मेलन हमें इस दिशा में आगे बढ़ने के अवसर प्रदान करते हैं।

 

उन्होंने कहा कि लोक संस्कृति, शिक्षा, पर्यावरण संरक्षण प्रत्यक्ष रूप से हमसे जुड़े हुए हैं और हमारा प्रतिबिंब उनसे प्रदर्शित होता है। यह हमारा दायित्व है कि हम इस सम्मेलन के माध्यम से सार्थक संवाद करें और समाज के प्रति अपना योगदान देते हुए दूसरों के लिए प्रेरणास्रोत बनें।

राष्ट्रीय शिक्षा नीति का उल्लेख करते हुए राज्यपाल ने कहा कि यह नीति हमारी मानसिकता को परिवर्तित करने का एक सार्थक प्रयास है। उन्होंने कहा कि विश्व के विकसित राष्ट्र अपनी भाषा का उपयोग करके विकसित हुए हैं।

 

उन्होंने कहा कि अब वर्तमान समय की मांग है कि हम अपनी मातृभाषा को अपनाएं और इस शिक्षा नीति के कारण यह संभव हो पाएग। उन्होंने कहा कि हमें अपनी संस्कृति और परम्पराओं पर गर्व करना चाहिए। उन्होंने अमृत काल के इस अवसर पर लोगों का आह्वान किया कि देश के विकास में अपना योगदान सुनिश्चित करें। उन्होंने लोगों से स्वदेशी अपनाने का भी आह्वान किया।

 

इस अवसर पर राज्यपाल ने कुल्लू के उपायुक्त व पुलिस अधीक्षक और आदित्य ठाकुर को उल्लेखनीय कार्यों के लिए सम्मानित किया। उन्होंने प्रो. इंद्र ठाकुर की किताब का विमोचन भी किया। रूपी सराज कला मंच के अध्यक्ष प्रो. इंद्र ठाकुर ने राज्यपाल का स्वागत करत हुए कहा कि मंच विगत कई वर्षों से विभिन्न सामाजिक कार्यों में उल्लेखनीय भूमिका निभा रहा है। कला मंच के माध्यम से पानी, पर्यावरण और विभिन्न मुद्दों पर जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं।

 

इस अवसर पर रूपी सराज कला मंच के सचिव डॉ. दयानंद गौतम ने कला मंच की विभिन्न गतिविधियों से अवगत करवाया। मास्को अंतर्राष्ट्रीय केंद्र की स्पीकर लारीसा वी. सर्जिना ने भारतीय लोक संस्कृति एवं पर्यावरण पर अपने विचार प्रस्तुत किए। उन्होंने कहा कि रूस और भारत के मध्य गहरे मैत्रीपूर्ण संबंध हैं और संस्कृति और आध्यात्मिक सोच में भी एक दूसरे से जुड़े हुए हैं।

 

इससे पूर्व, राज्यपाल ने देव सदन स्थित संग्रहालय का दौरा किया और वास्तुकला के विभिन्न पहलुओं में गहरी रुचि दिखाई। इस अवसर पर कुल्लू के उपायुक्त आशुतोष गर्ग, पुलिस अधीक्षक, गुरुदेव शर्मा, देश और विदेश के प्रतिभागी, महिला मंडलों के प्रतिनिधि और अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे। इससे पहले, कुल्लू पहुंचने पर भूंतर हवाई अड्डे पर उपायुक्त और पुलिस अधीक्षक ने उनका स्वागत किया।

 

हिमाचल प्रदेश की सम्पदा को लूटने नहीं दूगाः सीएम

जनसभा : हिमाचल प्रदेश की सम्पदा को लूटने नहीं दूगाः सीएम

मुख्यमंत्री ने किया विंटर कार्निवल मनाली का शुभारम्भ

आयोजन : मुख्यमंत्री ने किया विंटर कार्निवल मनाली का शुभारम्भ

कुल्लू से आपदा प्रभावितों के पुनर्वास की शुरूआत, राहत राशि वितरित

पहली किस्त जारी : कुल्लू से आपदा प्रभावितों के पुनर्वास की शुरूआत, राहत राशि वितरित

कुल्लू दशहरा की सांस्कृतिक संध्या में टिकट लगाने पर नेता प्रतिपक्ष ने घेरी सुक्‍खू सरकार

कड़ी प्रतिक्रिया : कुल्लू दशहरा की सांस्कृतिक संध्या में टिकट लगाने पर नेता प्रतिपक्ष ने घेरी सुक्‍खू सरकार

प्रियंका गांधी ने कहा प्रदेश के लोगों ने मजबूती से आपदा का सामना किया, सीएम भी रहे मौजूद

जायजा : प्रियंका गांधी ने कहा प्रदेश के लोगों ने मजबूती से आपदा का सामना किया, सीएम भी रहे मौजूद

सीएम ने आनी का दौरा कर नुकसान का जायज़ा लिया, संपर्क मार्ग बहाली के निर्देश

आपदाग्रस्‍त : सीएम ने आनी का दौरा कर नुकसान का जायज़ा लिया, संपर्क मार्ग बहाली के निर्देश

मुख्यमंत्री ने चंद्रताल, लोसर सहित मनाली क्षेत्र का हवाई सर्वेक्षण किय, 25 हजार लोगों सुरक्षित निकाले

राहत-बचाव : मुख्यमंत्री ने चंद्रताल, लोसर सहित मनाली क्षेत्र का हवाई सर्वेक्षण किय, 25 हजार लोगों सुरक्षित निकाले

मुख्यमंत्री स्वयं आपदा प्रभावित क्षेत्रों में उतरे, खुद कर रहे राहत एवं बचाव अभियान का नेतृत्व

राहत एवं बचाव : मुख्यमंत्री स्वयं आपदा प्रभावित क्षेत्रों में उतरे, खुद कर रहे राहत एवं बचाव अभियान का नेतृत्व

VIDEO POST

View All Videos
X