Thursday, December 01, 2022
BREAKING
घास काट रहा व्‍यक्‍ति पांव फिसलने से खाई में गिरा, मौत दुर्घटनाओं में दो बाइक सवार युवकों की जान गई सड़क किनारे खड़े बुजुर्ग को बैक हो रहे टिप्‍पर ने मारी टक्‍कर, मौत सड़क किनारे पड़ा मिला युवक का शव, पुलिस जांच में जुटी कारोबारी की डंडों से पीट-पीट कर हत्‍या की, दो गिरफ्तार मोटर साइकिल पर लिफ्ट देकर महिला को ले गया जंगल और किया दुष्‍कर्म चुवाड़ी में 1 दिसंबर को होगा पूर्व सैनिक व उनके परिवारों का स्वास्थ्य जांच शिविर वन खेल-कूद प्रतियोगिता: 100 मीटर दौड़ में मनीष ने मारी बाजी कार खाई में गिरते ही बनी आग का गोला, फौजी और एक बच्‍चा थे सवार तरसूह हत्‍याकांड: प्रेम प्रसंग के चलते दुश्‍मनी में बदली दोस्‍ती और फिर हुआ खून
 

आर्थिक संकट में जारी प्रदर्शनों के बीच श्रीलंका में सार्वजनिक आपातकाल की घोषणा

एफ.आई.आर. लाइव डेस्क Updated on Saturday, April 02, 2022 18:02 PM IST
आर्थिक संकट में जारी प्रदर्शनों के बीच श्रीलंका में सार्वजनिक आपातकाल की घोषणा

कोलंबो, 02 अप्रैल। श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे ने द्वीपीय देश के इतिहास के सबसे बड़े आर्थिक संकट को लेकर देशभर में जारी प्रदर्शनों के बीच राष्ट्रव्यापी सार्वजनिक आपातकाल लगाने की घोषणा की है। राजपक्षे ने शुक्रवार देर रात एक विशेष गजट अधिसूचना जारी कर श्रीलंका में एक अप्रैल से तत्काल प्रभाव से सार्वजनिक आपातकाल लागू करने की घोषणा की।

 

गजट अधिसूचना में राष्ट्रपति ने कहा कि “मेरी राय में श्रीलंका में सार्वजनिक आपातकाल लागू करना सार्वजनिक सुरक्षा व्यवस्था के साथ-साथ समुदायों के लिए जरूरी वस्तुओं और सेवाओं की आपूर्ति बनाए रखने के हित में है।” यह कदम ऐसे समय में भी उठाया गया है, जब आर्थिक संकट से निपटने में सरकार की नाकामी को लेकर द्वीपीय देश में रविवार को बड़े पैमाने पर प्रदर्शन का आह्वान किया गया है।

 

स्वतंत्र थिंकटैंक ‘सेंटर फॉर पॉलिसी ऑल्टरनेटिव्स’ ने आपातकाल पर टिप्पणी करते हुए कहा कि प्रतिबंधों से संविधान द्वारा प्रदत्त कुछ मौलिक अधिकार बाधित हो सकते हैं। इनमें अभिव्यक्ति की आजादी से लेकर सभा, आवाजाही, पेशा, धर्म, संस्कृति और भाषा की स्वतंत्रता शामिल है।

 

अधिवक्ताओं ने बताया कि ये प्रतिबंध पुलिस को गैरकानूनी रूप से एकत्रित होने वाले लोगों को गिरफ्तार करने की असीम शक्ति देते हैं। उन्होंने कहा कि इन प्रतिबंधों पर उनके क्रियान्वयन के हर 30वें दिन संसद की मंजूरी ली जानी चाहिए। आपातकाल की घोषणा उस समय की गई है, जब अदालत ने राजपक्षे के आवास के सामने प्रदर्शन के लिए गिरफ्तार किए गए प्रदर्शनकारियों के एक समूह को जमानत देने का आदेश दिया है।

 

अधिवक्ता नुवान बोपागे ने बताया कि गिरफ्तार किए गए 54 प्रदर्शनकारियों में से 21 को जमानत दे दी गई है, जबकि छह को चार अप्रैल तक के लिए रिमांड पर भेजा गया है और बाकी 27 घायल अवस्था में अस्पतालों में भर्ती हैं। बोपागे कोलंबो उपनगरीय गंगोडाविला मजिस्ट्रेट की अदालत में मुफ्त सलाह देने के लिए जुटे लगभग 500 अधिवक्ताओं में शामिल हैं।

 

उन्होंने कहा कि यह एक बेहद अहम आदेश था। अदालत ने पुलिस से प्रत्येक प्रदर्शनकारी के हिंसक गतिविधियों में शामिल होने के आरोपों की पुष्टि करने वाले सबूत पेश करने को कहा था। पुलिस ऐसा नहीं कर सकी। सरकार ने राजपक्षे के आवास के बाहर हुए प्रदर्शनों के लिए विपक्षी राजनीतिक दलों से जुड़े एक चरमपंथी समूह को जिम्मेदार ठहराया था।

 

हालांकि, प्रदर्शनकारियों ने कहा था कि वे किसी राजनीतिक समूह से प्रेरित नहीं हैं और उनका मकसद सिर्फ जनता द्वारा झेली जा रही दुश्वारियों का सरकार के स्तर पर समाधान खोजना है। प्रदर्शन के हिंसक रूप अख्तियार करने के चलते कई वाहनों को आग लगा दी गई थी और सैकड़ों लोग घायल हो गए थे।

कनाड़ा में हिंदू हेरिटेज में दिखा हिमाचली नाटी का जलवा

समारोह : कनाड़ा में हिंदू हेरिटेज में दिखा हिमाचली नाटी का जलवा

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री पद की दौड़ में ऋषि सुनक की वापसी

कमबैक : ब्रिटेन के प्रधानमंत्री पद की दौड़ में ऋषि सुनक की वापसी

पाकिस्तान ने कश्मीर में अपने नागरिक की मौत पर भारत के समक्ष विरोध जताया

घड़ियाली आंसू : पाकिस्तान ने कश्मीर में अपने नागरिक की मौत पर भारत के समक्ष विरोध जताया

अमेरिका में मैक्‍सिकन महिला का भारतीय-अमेरिकी महिलाओं से नस्ली दुर्व्यवहार, कहा भारत वापस जाओ

मारपीट की : अमेरिका में मैक्‍सिकन महिला का भारतीय-अमेरिकी महिलाओं से नस्ली दुर्व्यवहार, कहा भारत वापस जाओ

भारत ने यूक्रेन के संबंध में यूएनएससी में पहली बार रूस के खिलाफ मतदान किया

फैसला : भारत ने यूक्रेन के संबंध में यूएनएससी में पहली बार रूस के खिलाफ मतदान किया

दुनियाभर में मुसलमान हिंसा का शिकार हो रहे: जो बाइडन

ईद-उल-फितर पर बोले : दुनियाभर में मुसलमान हिंसा का शिकार हो रहे: जो बाइडन

मोदी डेनमार्क पहुंचे, डेनिश पीएम से मिलेंगे और भारत-नॉर्डिक सम्मेलन में भाग लेंगे

विदेश नीति : मोदी डेनमार्क पहुंचे, डेनिश पीएम से मिलेंगे और भारत-नॉर्डिक सम्मेलन में भाग लेंगे

भारत में 2047 तक देश का हरेक बच्चा सुरक्षित और शिक्षित होगा: सत्यार्थी

नोबेल पुरस्‍कार विजेता के विचार : भारत में 2047 तक देश का हरेक बच्चा सुरक्षित और शिक्षित होगा: सत्यार्थी

VIDEO POST

View All Videos
X