Friday, May 20, 2022
BREAKING
धर्मशाला से भागसूनाग जा रही निजी बस पलटी, कई घायल फंदे से लटकी मिली कॉलेज छात्रा, युवक की संदिग्‍ध मौत, महिला का शव लेने से किया इनकार धर्मशाला जेल में बंद विचाराधिन कैदी पठानकोट में पुलिस को चकमा देकर फरार क्षमता के समग्र विकास के लिए प्रत्येक बच्चे को मिलें समान अवसर:राज्यपाल अवगुणों को दूर करके सद्गुण अपनायें: सत्गुरु माता सुदीक्षा जी महाराज वर्धमान यार्न होशियारपुर में 50 पदों के लिए कैंपस इंटरव्यू 23 को तीसा में मुख्यमंत्री ने हमीरपुर मेडिकल कॉलेज में स्थापित सीटी स्कैन मशीन का लोकार्पण किया फ्री फायर गेम से बना दोस्‍त देसी कट्टा लेकर आ पहुंचा लड़की के घर, नाबालिग से दुष्‍कर्म   युवक की जहर निगलने से हुई मौत पर गर्भवती पत्‍नी व सास गिरफ्तार  जी-20 शिखर सम्‍मेलन की एक बैठक होगी धर्मशाला में
april, 22

डंपिंग साइड बना ऐतिहासिक सूही माता मंदिर

एफ.आई.आर. लाइव डेस्क Updated on Thursday, July 29, 2021 14:58 PM IST
डंपिंग साइड बना ऐतिहासिक सूही माता मंदिर
Primary Image23

चंबा, 5 जुलाई। हिमाचल प्रदेश के चंबा जिले में स्थित ऐतिहासिक सूही माता मंदिर के पास डंपिंग साइड बना देने से इसका अस्तित्व खतरे में पड़ गया है। स्थानीय लोगों के जबरदस्त विरोध के बाद भी प्रशासन के कान में जूं नहीं रेंग रही है।
जिले के लुड्डु उटीप मार्ग पर भलोठा गांव में स्थित ऐतिहासिक सूही माता समाधि स्थल के पास ठेकेदार अपनी मनमानी में उतर आए हैं। ठेकेदार समाधि स्थल के ठीक ऊपर के सीधे मार्ग पर मलबा फेंकते हैं। उन्होंने इस जगह को पूरी तरह से डंपिंग साइड बना दिया है। जहां मलबा फेंकता जाता है उसके ठीक नीचे सूही माता का समाधि स्थल है। जिससे समाधि स्थल का अस्तित्व खतरे में पड़ता जा रहा है। ग्रामीण यहां दिनदहाड़े मलबा फेंकने का पुरजोर विरोध करते हैं। परंतु ना तो ठेकेदारों और ना ही प्रशासन के कानों में जूं रेंग रही है।
स्थानीय निवासी राजेश भारद्वाज, धारों राम, अम्बिका प्रसाद, ललित, राजेश भारद्वाज, हितेश अत्री, प्रशांत अत्री, साहिल, मुकल, दीपक भारद्वाज, कमल कुमार, भूषण और जीवन ने कहा कि समाधि स्थल के आसपास कूड़ा फैंकने से इसका अस्तित्व खतरे में पड़ता जा रहा है। माता के दर्शनों के लिए यहां हजारों श्रद्धालु आते हैं। ऐसे में कूड़े का बढ़ता ढेर कभी भी किसी बड़े हादसे को न्यौता दे सकता है। उन्होंने जिला प्रशासन से मांग की है कि समाधि स्थल के आसपास कूड़ा फैंकने पर पूरी तरह से रोक लगाई जाए और मनमानी पर उतारू ठेकेदारों कड़ी कार्रवाई की जाए।
मालूम हो कि चंबा मुख्यालय में पानी की कमी के चलते राजघराने की राजमाता ने बलिदान देते हुए अपने आप को जीते जी यहां पर चिनवा दिया था। तब से लेकर आज तक इस पवित्र स्थल को धार्मिक दृष्टि से देखा जाता हैं और वहां पर हजारों श्रद्धालु माथा टेकने आते हैं। अप्रैल माह में बैशाखी के समय यहां पर मेले का आयोजन भी किया जाता हैं।

 

भारत को आत्मनिर्भर बनना होगा, स्‍थानीय उत्‍पाद खरीदने को प्रेरित करें संत: पीएम मोदी

हनुमान जयंती पर बोले : भारत को आत्मनिर्भर बनना होगा, स्‍थानीय उत्‍पाद खरीदने को प्रेरित करें संत: पीएम मोदी

बंग्‍लादेश की सीमा की सुरक्षा के लिए बीएसएफ को मिले 3 पोत

सीएसएल ने की डिलीवरी : बंग्‍लादेश की सीमा की सुरक्षा के लिए बीएसएफ को मिले 3 पोत

हेलिकॉप्‍टर कैश में सीडीएस बिपिन रावत, उनकी पत्‍नी समेत 13 की मौत

सैन्‍य हादसा : हेलिकॉप्‍टर कैश में सीडीएस बिपिन रावत, उनकी पत्‍नी समेत 13 की मौत

स्टेच्यू ऑफ यूनिटी विश्व को संदेश,भारत की अखंडता को कोई नष्ट नहीं कर सकता:शाह

सरदार पटेल के योगदान को किया : स्टेच्यू ऑफ यूनिटी विश्व को संदेश,भारत की अखंडता को कोई नष्ट नहीं कर सकता:शाह

कांग्रेस के गंभीर न होने से मोदी और शक्तिशाली बनेंगे: ममता

टीएमसी सुप्रीमो की कांग्रेस का नसीहत : कांग्रेस के गंभीर न होने से मोदी और शक्तिशाली बनेंगे: ममता

मोदी ने की पीएम आयुष्मान भारत हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर मिशन की शुरुआत

महामारियों से बचाव की तैयारी : मोदी ने की पीएम आयुष्मान भारत हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर मिशन की शुरुआत

गोवा विकास का नया मॉडल, निरंतरता बनाए रखने की आवश्यकता: मोदी

आगामी चुनावों का शंखनाद : गोवा विकास का नया मॉडल, निरंतरता बनाए रखने की आवश्यकता: मोदी

वायुसेना का विमान दुर्घटनाग्रस्त, पायलट सुरक्षित

हादसा : वायुसेना का विमान दुर्घटनाग्रस्त, पायलट सुरक्षित

VIDEO POST

View All Videos
X