Friday, October 22, 2021
BREAKING
हिमाचलियों को विदेशी रहन सहन समझने में मदद करेगी हिमाचली प्रवासी ग्लोबल एसोसिएशन  डीसी ने हमीरपुर अस्पताल में किया दो अत्याधुनिक मशीनों का लोकार्पण मां के पास खेल रही बच्ची को छीन ले गई मौत, टैंक में मिला शव न्यायमूर्ति सुरेश्वर ठाकुर की गरिमापूर्ण विदाई शादी से लौटते समय बारात की कार पेड़ से टकराई, दो युवकों की मौत, 3 घायल बहुतकनीकी संस्थान चंबा में दी एंटी रैगिंग एक्‍ट की जानकारी उपचुनावों में कांग्रेस का मुकाबला आजाद प्रत्‍याशियों से, भाजपा तीसरे नंबर पर: डॉ. राजेश कांग्रेस के पास न तो कोई नेता है ओर नही नीति: त्रिलोक कपूर राज्यपाल सचिवालय में ई-ऑफिस कार्यान्वित आईटीआई जोगिंद्रनगर के प्रशिक्षुओं ने निकाली बाईक रैली

डंपिंग साइड बना ऐतिहासिक सूही माता मंदिर

एफ.आई.आर. लाइव डेस्क Updated on Thursday, July 29, 2021 14:58 PM IST
डंपिंग साइड बना ऐतिहासिक सूही माता मंदिर

चंबा, 5 जुलाई। हिमाचल प्रदेश के चंबा जिले में स्थित ऐतिहासिक सूही माता मंदिर के पास डंपिंग साइड बना देने से इसका अस्तित्व खतरे में पड़ गया है। स्थानीय लोगों के जबरदस्त विरोध के बाद भी प्रशासन के कान में जूं नहीं रेंग रही है।
जिले के लुड्डु उटीप मार्ग पर भलोठा गांव में स्थित ऐतिहासिक सूही माता समाधि स्थल के पास ठेकेदार अपनी मनमानी में उतर आए हैं। ठेकेदार समाधि स्थल के ठीक ऊपर के सीधे मार्ग पर मलबा फेंकते हैं। उन्होंने इस जगह को पूरी तरह से डंपिंग साइड बना दिया है। जहां मलबा फेंकता जाता है उसके ठीक नीचे सूही माता का समाधि स्थल है। जिससे समाधि स्थल का अस्तित्व खतरे में पड़ता जा रहा है। ग्रामीण यहां दिनदहाड़े मलबा फेंकने का पुरजोर विरोध करते हैं। परंतु ना तो ठेकेदारों और ना ही प्रशासन के कानों में जूं रेंग रही है।
स्थानीय निवासी राजेश भारद्वाज, धारों राम, अम्बिका प्रसाद, ललित, राजेश भारद्वाज, हितेश अत्री, प्रशांत अत्री, साहिल, मुकल, दीपक भारद्वाज, कमल कुमार, भूषण और जीवन ने कहा कि समाधि स्थल के आसपास कूड़ा फैंकने से इसका अस्तित्व खतरे में पड़ता जा रहा है। माता के दर्शनों के लिए यहां हजारों श्रद्धालु आते हैं। ऐसे में कूड़े का बढ़ता ढेर कभी भी किसी बड़े हादसे को न्यौता दे सकता है। उन्होंने जिला प्रशासन से मांग की है कि समाधि स्थल के आसपास कूड़ा फैंकने पर पूरी तरह से रोक लगाई जाए और मनमानी पर उतारू ठेकेदारों कड़ी कार्रवाई की जाए।
मालूम हो कि चंबा मुख्यालय में पानी की कमी के चलते राजघराने की राजमाता ने बलिदान देते हुए अपने आप को जीते जी यहां पर चिनवा दिया था। तब से लेकर आज तक इस पवित्र स्थल को धार्मिक दृष्टि से देखा जाता हैं और वहां पर हजारों श्रद्धालु माथा टेकने आते हैं। अप्रैल माह में बैशाखी के समय यहां पर मेले का आयोजन भी किया जाता हैं।

 

वायुसेना का विमान दुर्घटनाग्रस्त, पायलट सुरक्षित

हादसा : वायुसेना का विमान दुर्घटनाग्रस्त, पायलट सुरक्षित

भवानीपुर में ममता की बड़ी जीत, बाकी दो सीटों पर भी टीएमसी आगे

बंगाल उपचुनाव : भवानीपुर में ममता की बड़ी जीत, बाकी दो सीटों पर भी टीएमसी आगे

आकाशीय बिजली गिरने से चार लोगों की मौत, दो झुलसे

प्राकृतिक आपदा : आकाशीय बिजली गिरने से चार लोगों की मौत, दो झुलसे

जाति आधारित जनगणना आवश्यक, ओबीसी के गायब होने का खतरा: पीएमके

बयान : जाति आधारित जनगणना आवश्यक, ओबीसी के गायब होने का खतरा: पीएमके

गुजरात में 24 मंत्रियों ने शपथ ली, पुराने सभी मंत्रियों की छुट्टी

बड़ा फेरबदल : गुजरात में 24 मंत्रियों ने शपथ ली, पुराने सभी मंत्रियों की छुट्टी

पहली बार विधायक बने भूपेंद्र पटेल होंगे गुजरात के नये मुख्यमंत्री

ताजपोशी : पहली बार विधायक बने भूपेंद्र पटेल होंगे गुजरात के नये मुख्यमंत्री

महामारी के दौरान प्रभावित होने की तुलना में भारत की अर्थव्यवस्था अधिक मजबूती से उबरी: मोदी

मजबूत अर्थव्‍यवस्‍था : महामारी के दौरान प्रभावित होने की तुलना में भारत की अर्थव्यवस्था अधिक मजबूती से उबरी: मोदी

गुजरात के सीएम विजय रुपाणी का अचानक इस्‍तीफा, तीन माह में भाजपा ने चौथे सीएम का इस्‍तीफा लिया  

नेतृत्व परिवर्तन : गुजरात के सीएम विजय रुपाणी का अचानक इस्‍तीफा, तीन माह में भाजपा ने चौथे सीएम का इस्‍तीफा लिया  

VIDEO POST

View All Videos