Thursday, June 30, 2022
BREAKING
अज्ञात वाहन की टक्कर से भोटा के मैकेनिक की मौत जल शक्ति विभाग को मिला प्रतीक चिन्ह, सीएम ने छात्रों को दी बधाई श्री मणिमहेश न्यास की बैठक आयोजित, एक हफ्ते पहले शुरू होगी हेलीकॉप्‍टर सेवा मुख्यमंत्री ने पुलिस की 160 करोड़ लागत की 43 परियोजनाओं के लोकार्पण/शिलान्यास किए मंडी, कुल्लू और लाहौल-स्पीति के युवाओं के लिए मंडी में होगी अग्निवीरों की भर्ती खेलते हुए स्‍कूल में खोदे गड्ढे में गिरे दो मासूम भाई, डूबने से मौत थाने पहुंचा अफसरों का दंगल, एचएएस ने खाद्य आयोग के चेयरमैन को पीटा पासिंग के बदले 5.68 लाख वसूली कर होटल में रूके एमवीआई को विजिलेंस ने दलाल समेत दबोचा परिवार की आर्थिक तंगी से परेशान बीबीए की छात्रा ने की खुदकुशी महाक्विज का पांचवां राउंड शुरू, डॉ. सैजल ने किया शुभारंभ
June to July, 22

भारत के 10 सबसे अमीर लोगों के धन से 25 साल तक हर बच्चे को मिल सकती है शिक्षा

एफ.आई.आर. लाइव डेस्क Updated on Monday, January 17, 2022 17:10 PM IST
भारत के 10 सबसे अमीर लोगों के धन से 25 साल तक हर बच्चे को मिल सकती है शिक्षा

नई दिल्ली/दावोस, 17 जनवरी। कोविड-19 महामारी के दौरान भारत के अरबपतियों की कुल संपत्ति बढ़कर दोगुने से अधिक हो गई और 10 सबसे अमीर लोगों की संपत्ति 25 साल तक देश के हर बच्चे को स्कूली शिक्षा एवं उच्च शिक्षा देने के लिए पर्याप्त है। एक अध्ययन में सोमवार को यह बात कही गई। अध्ययन के मुताबिक इस दौरान भारत में अरबपतियों की संख्या 39 प्रतिशत बढ़कर 142 हो गई।

 

वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए आयोजित विश्व आर्थिक मंच के दावोस एजेंडा शिखर सम्मेलन के पहले दिन जारी ऑक्सफैम इंडिया की वार्षिक असमानता सर्वेक्षण में कहा गया कि यदि सबसे अमीर 10 प्रतिशत लोगों पर एक प्रतिशत अतिरिक्त कर लगा दिया जाए, तो देश को लगभग 17.7 लाख अतिरिक्त ऑक्सीजन सिलेंडर मिल सकते हैं।

 

आर्थिक असमानता पर ऑक्सफैम की रिपोर्ट में आगे कहा गया कि 142 भारतीय अरबपतियों के पास कुल 719 अरब अमेरिकी डॉलर (53 लाख करोड़ रुपये से अधिक) की संपत्ति है। देश के सबसे अमीर 98 लोगों की कुल संपत्ति, सबसे गरीब 55.5 करोड़ लोगों की कुल संपत्ति के बराबर है।

 

रिपोर्ट में आगे कहा गया कि यदि 10 सबसे अमीर भारतीय अरबपतियों को प्रतिदिन 10 लाख अमेरिकी डॉलर खर्च करने हों तो उनकी वर्तमान संपत्ति 84 साल में खत्म होगी। ऑक्सफैम ने कहा कि इन अरबपतियों पर वार्षिक संपत्ति कर लगाने से हर साल 78.3 अरब अमेरिकी डॉलर मिलेंगे, जिससे सरकारी स्वास्थ्य बजट में 271 प्रतिशत बढ़ोतरी हो सकती है।

 

रिपोर्ट के मुताबिक कोविड-19 की शुरुआत एक स्वास्थ्य संकट के रूप में हुई थी, लेकिन अब यह एक आर्थिक संकट बन गया है। महामारी के दौरान सबसे धनी 10 प्रतिशत लोगों ने राष्ट्रीय संपत्ति का 45 प्रतिशत हिस्सा हासिल किया, जबकि नीचे की 50 प्रतिशत आबादी के हिस्से सिर्फ छह प्रतिशत राशि आई। अध्ययन में सरकार से राजस्व सृजन के अपने प्राथमिक स्रोतों पर फिर से विचार करने और कराधान के अधिक प्रगतिशील तरीकों को अपनाने का आग्रह किया गया।

मोदी का भाजपा सांसदों को संदेश, सेवा व समर्पण भाव से जनता के बीच करें काम

संसदीय दल की बैठक : मोदी का भाजपा सांसदों को संदेश, सेवा व समर्पण भाव से जनता के बीच करें काम

आगे रास्ता और भी चुनौतीपूर्ण, कांग्रेस की मजबूती लोकतंत्र के लिए जरूरी: सोनिया गांधी

संसदीय दल की बैठक : आगे रास्ता और भी चुनौतीपूर्ण, कांग्रेस की मजबूती लोकतंत्र के लिए जरूरी: सोनिया गांधी

भारत-ऑस्ट्रेलिया ने आर्थिक सहयोग एवं व्यापार समझौता किया

भारतीय वस्‍तुएं शुल्‍क मुक्‍त : भारत-ऑस्ट्रेलिया ने आर्थिक सहयोग एवं व्यापार समझौता किया

पीएम मोदी की नेपाल के पीएम देउबा से मुलाकात, व्‍यापक बातचीत हुई

विदेश नीति : पीएम मोदी की नेपाल के पीएम देउबा से मुलाकात, व्‍यापक बातचीत हुई

बिम्स्टेक ने चार्टर को अपनाया, परिवहन मास्टर प्लान को मंजूरी दी, पीएम ने किया संबोधित

शिखर बैठक : बिम्स्टेक ने चार्टर को अपनाया, परिवहन मास्टर प्लान को मंजूरी दी, पीएम ने किया संबोधित

बिरजू महाराज का निधन, अंतिम समय खेल रहे थे अंताक्षरी

कला जगत में शोक लहर   : बिरजू महाराज का निधन, अंतिम समय खेल रहे थे अंताक्षरी

सीबीआई ने रिश्वतखोरी मामले में गेल के निदेशक को गिरफ्तार किया

1.29 करोड़ बरामद : सीबीआई ने रिश्वतखोरी मामले में गेल के निदेशक को गिरफ्तार किया

ब्रह्मोस मिसाइल के आधुनिक संस्करण का सफल परीक्षण

लक्ष्य साधा : ब्रह्मोस मिसाइल के आधुनिक संस्करण का सफल परीक्षण

VIDEO POST

View All Videos
X