Sunday, June 16, 2024
BREAKING
गलत साइड से ओवरटेक करते ट्रक से टकराई बाइक, युवक की मौत पुलिस की कार्यप्रणाली पर लग रहे आरोप दुर्भाग्यपूर्ण, संज्ञान लें सीएम: जयराम ठाकुर मुख्‍यमंत्री और हाईकमान पर छोड़ा हमीरपुर से कांग्रेस टिकट का फैसला सीएम कुर्सी बचाने में व्यस्त, प्रदेश में क़ानून-व्यवस्था तबाह : जयराम ठाकुर आईएफएम फिनकोच में भरें जाएंगे कासा सेल्ज़ अधिकारी और ब्रांच रिलेशन ऑफिसर के 150 पद मेधा प्रोत्साहन योजना के तहत कोचिंग फंड के लिए 23 जून तक करें आवेदन बौखलाहट में है भाजपा नेता, महिलाओं के खाते में जल्‍द डलेंगे 3 हजार: नरेश चौहान मुख्यमंत्री सुख-आश्रय योजना के अंतर्गत 14 बच्चों का प्रतिष्ठित शिक्षण संस्थानों में दाखिला: सीएम प्रदेश के लोगों ने कांग्रेस को ठुकराया,  भाजपा को दिया समर्थन : जयराम ठाकुर नवर्विाचित विधायकों ने ली शपथ, सीएम भी शामिल हुए
 

ट्रॉपेक्स-23: भारतीय नौसेना का सबसे बड़ा युद्धाभ्यास

एफ.आई.आर. लाइव डेस्क Updated on Thursday, March 09, 2023 20:09 PM IST
ट्रॉपेक्स-23: भारतीय नौसेना का सबसे बड़ा युद्धाभ्यास

नई दिल्‍ली, 09 मार्च। वर्ष 2023 के लिए भारतीय नौसेना का प्रमुख परिचालन स्तरी अभ्यास ट्रॉपेक्स,  नवंबर 2022 से  मार्च 2023 तक चार महीने की अवधि में आईओआर में आयोजित किया गया। सैन्याभ्यास इस सप्ताह अरब सागर में सम्पन्न हो गया। समग्र अभ्यास में तटीय रक्षा अभ्यास सी-विजिल और जमीन व जल में अभ्यास एम्फेक्स शामिल थे। साथ में, इन अभ्यासों में भारतीय सेना, भारतीय वायु सेना और तटरक्षक बल की महत्त्वपूर्ण भागीदारी भी रही।

 

अरब सागर और बंगाल की खाड़ी सहित हिंद महासागर में कायम किया जाने वाले  अभ्यास के लिए संचालन का क्षेत्र उत्तर से दक्षिण तक 4300 समुद्री मील तक और पश्चिम में फारस की खाड़ी से 35 डिग्री दक्षिण अक्षांस पूर्व में उत्तरी ऑस्ट्रेलिया तट तक लगभग 5000 समुद्री मील में फैला हुआ था। यह पूरा इलाका 21  मिलियन वर्ग समुद्री मील से अधिक के क्षेत्र में फैला हुआ था। ट्रॉपेक्स-23 में लगभग 70  भारतीय नौसेना के जहाजों, छह पनडुब्बियों और 75 से अधिक विमानों ने भाग लिया।

 

ट्रॉपेक्स 23  का अंतिम पड़ाव आते-आते भारतीय नौसेना का गहन परिचालन चरण सम्पन्न हो गया। यह नवंबर 2022 में शुरू हुआ था। अंतिम संयुक्त चरण के हिस्से के रूप में, माननीय रक्षा मंत्री ने छह मार्च 2023 को नए कमीशन किए गए स्वदेशी विमान वाहक विक्रांत पर समुद्र में एक दिन बिताया। उन्होंने भारतीय नौसेना की परिचालन तैयारियों और साजो-सामान की समीक्षा की, जिसमें नौसेना ने स्वदेशी एलसीए के डेक संचालन और प्रत्यक्ष हथियार फायरिंग सहित परिचालन कौशल और लड़ाकू अभियानों के विभिन्न पहलुओं का प्रदर्शन किया। बेड़े को संबोधित करते हुए, उन्होंने भारतीय नौसेना की परिचालन तैयारियों की सराहना की और इस बात पर जोर दिया कि देश आशा से नौसेना की ओर देखता है कि वह हमारे दुश्मनों की आर्थिक जीवन-रेखा और सैन्य क्षमताएं इस हद तक बाधित कर सकती है कि वे अपने युद्ध के प्रयासों को जारी न रख सकें।

 

उन्होंने यह भी कहा कि वह पूरी तरह आश्वस्त हैं कि भारतीय नौसेना समुद्री क्षेत्र में भारत के राष्ट्रीय हितों की रक्षा करने में पूरी तरह से सक्षम है और भारत के शांतिपूर्ण अस्तित्व को खतरे में डालने वाले किसी भी संभावित दुश्मन के गलत इरादों को विफल कर देगी। रक्षा मंत्री ने 'मेक इन इंडिया' पहल में सबसे आगे रहने और 'युद्ध तत्परता, विश्वसनीयता, सामंजस्यपूर्णता और सुरक्षित भविष्य ' की दिशा में आत्मनिर्भरता के मार्ग का लाभ उठाने के लिए भारतीय नौसेना की सराहना की।

लेबरकोर्ट के रेफरेंस पर दिल्ली हाईकोर्ट के स्टे को सुप्रीम कोर्ट ने किया स्टे

आदेश : लेबरकोर्ट के रेफरेंस पर दिल्ली हाईकोर्ट के स्टे को सुप्रीम कोर्ट ने किया स्टे

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने लिथियम,  नायोबियम और आरईई के खनन के लिए रॉयल्टी दरों को मंजूरी दी

फैसला : केंद्रीय मंत्रिमंडल ने लिथियम,  नायोबियम और आरईई के खनन के लिए रॉयल्टी दरों को मंजूरी दी

उद्घाटन अवसर पर पीएम मोदी करेंगे नए संसद भवन में पवित्र सेन्गोल की स्थापना

अमृतकाल का प्रतिबिंब : उद्घाटन अवसर पर पीएम मोदी करेंगे नए संसद भवन में पवित्र सेन्गोल की स्थापना

देशभर में बनेंगे 100 फूड स्ट्रीट प्रोजेक्ट, हिमाचल के खाते में 3

समीक्षा : देशभर में बनेंगे 100 फूड स्ट्रीट प्रोजेक्ट, हिमाचल के खाते में 3

पीएम ने किया 91 एफएम ट्रांसमीटरों का उद्घाटन, रेडियो उद्योग में आएगी क्रांति

एफएम कनेक्टिविटी : पीएम ने किया 91 एफएम ट्रांसमीटरों का उद्घाटन, रेडियो उद्योग में आएगी क्रांति

स्टैंड-अप इंडिया योजना के तहत 7 वर्षों में 40,700 करोड़ की राशि आवंटित: निर्मला सीतारामन

उपलब्धि : स्टैंड-अप इंडिया योजना के तहत 7 वर्षों में 40,700 करोड़ की राशि आवंटित: निर्मला सीतारामन

ईपीएफ न्यासी बोर्ड ने 2022-23 के लिए 8.15 प्रतिशत ब्याज की अनुशंसा की

घोषणा : ईपीएफ न्यासी बोर्ड ने 2022-23 के लिए 8.15 प्रतिशत ब्याज की अनुशंसा की

पीएम फसल बीमा योजना के डिजीक्लेम का शुभारंभ, 6 राज्यों के किसानों को 1260 करोड़ जारी

एनसीआईपी : पीएम फसल बीमा योजना के डिजीक्लेम का शुभारंभ, 6 राज्यों के किसानों को 1260 करोड़ जारी

VIDEO POST

View All Videos
X