Thursday, June 30, 2022
BREAKING
अज्ञात वाहन की टक्कर से भोटा के मैकेनिक की मौत जल शक्ति विभाग को मिला प्रतीक चिन्ह, सीएम ने छात्रों को दी बधाई श्री मणिमहेश न्यास की बैठक आयोजित, एक हफ्ते पहले शुरू होगी हेलीकॉप्‍टर सेवा मुख्यमंत्री ने पुलिस की 160 करोड़ लागत की 43 परियोजनाओं के लोकार्पण/शिलान्यास किए मंडी, कुल्लू और लाहौल-स्पीति के युवाओं के लिए मंडी में होगी अग्निवीरों की भर्ती खेलते हुए स्‍कूल में खोदे गड्ढे में गिरे दो मासूम भाई, डूबने से मौत थाने पहुंचा अफसरों का दंगल, एचएएस ने खाद्य आयोग के चेयरमैन को पीटा पासिंग के बदले 5.68 लाख वसूली कर होटल में रूके एमवीआई को विजिलेंस ने दलाल समेत दबोचा परिवार की आर्थिक तंगी से परेशान बीबीए की छात्रा ने की खुदकुशी महाक्विज का पांचवां राउंड शुरू, डॉ. सैजल ने किया शुभारंभ
June to July, 22

अवगुणों को दूर करके सद्गुण अपनायें: सत्गुरु माता सुदीक्षा जी महाराज

एफ.आई.आर. लाइव डेस्क Updated on Thursday, May 19, 2022 18:41 PM IST
अवगुणों को दूर करके सद्गुण अपनायें: सत्गुरु माता सुदीक्षा जी महाराज

सोलन, 19 मई "मानव मन में उपस्थित नकारात्मक भावों को त्यागकर केवल सद्गुणों पर ही ध्यान केन्द्रित करें।" उक्त अमोलक वचन सत्गुरु माता सुदीक्षा जी महाराज द्वारा आज दिनांक 19 मई को  ठोडो ग्राउंड, राजगढ़ रोड सोलन में व्यक्त किये गये।

सत्गुरु माता सुदीक्षा जी महाराज ने मानव मन की अवस्था का जिक्र करते हुए फरमाया कि मानव की अवस्था ऐसी होती है कि उसमें अच्छाई एवं बुराई दोनों ही भाव समाहित होते है पर यह उस पर निर्भर करता है कि वह किसका चुनाव करें किन्तु मन अहंकार वश दूसरों में केवल कमियों को ही देखता है अच्छाईयों को नजरअंदाज करता है। इसके विपरीत संतों का स्वभाव तो सबके लिए प्रेम वाला ही होता है। सत्संग में जब आये तो बुराईयों को छोड़कर अच्छाईयों को अपने साथ लेकर जाये और सबके लिए समदृष्टि का भाव ही अपनाये।

सत्गुरू माता सुदीक्षा जी महाराज ने अपने सम्बोधन में कहा कि सभी के प्रति प्रेम,दया, करुणा, सहनशीलता का भाव मन में अपनाते हुए संसार को आनन्दित बनाया जा सकता है। निस्कार से जुड़ाव ही मानव जीवन का मूल उद्देश्य है और इससे ही मोक्ष की प्राप्ति संभव है। भक्तजन हमेशा ही अपने जीवन में जब परमात्मा को प्राथमिकता देते है तब मन भक्ति में लीन रहता है।

सत्गुरू माता जी ने अपने पावन प्रवचनों में कहा कि गृहस्थ एवं समाज में रहकर, भक्ति करते हुए परोपकार वाला जीवन जीना है। प्रदूषण अंदर हो या बाहर दोनों ही हानिकारक है इसका जिक्र करते हुए कहा कि बाहरी प्रदूषण यदि है तो ऑक्सीजन की कमी होने पर वृक्ष लगाकर उसकी पूर्ति की जा सकती है किन्तु आंतरिक प्रदूषण तो संतो का संग करने से ही संभव है ऐसा भक्ति भरा जीवन ही हम सभी ने जीना है। अंत में समस्त संतों के लिए सत्गुरू माता जी ने सुखमय एवं मंगलमय होने की कामना करी।

सोलन के जोनल इंचार्ज विवेक कालिया ने सत्गुरु माता जी के प्रति हृदय से आभार प्रकट किया और साथ ही प्रशासन एवं स्थानिक सज्जनों के सहयोग के लिए धन्यवाद भी किया। इस समागम में सोलन एवं उसके आसपास के क्षेत्रों से सभी संतों ने हिस्सा लेकर सत्गुरु माता जी के पावन प्रवचनों द्वारा स्वयं को निहाल किया तथा उनके दिव्य दर्शनों के उपरांत सभी के हृदय में अपने सत्गुरू के प्रति कृतज्ञता का भाव था।

श्री नैनादेवी मंदिर में विश्‍व युद्ध और खूनखराबे से बचाने की कामना से किया गया महायज्ञ

दैवीय अह्वान : श्री नैनादेवी मंदिर में विश्‍व युद्ध और खूनखराबे से बचाने की कामना से किया गया महायज्ञ

 भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए करें ये उपाय...

महाशिवरात्रि विशेष :  भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए करें ये उपाय...

चंद्र ग्रहण से अद्भुत संयोग लेकर आ रही कार्तिक पूर्णिमा, ऐसे होगी मनोकामना पूर्ति

विशेष महत्व : चंद्र ग्रहण से अद्भुत संयोग लेकर आ रही कार्तिक पूर्णिमा, ऐसे होगी मनोकामना पूर्ति

जानें, लक्ष्मी पूजन का समय, व्यापार में वृद्धि के लिए करें यह प्रयोग

लक्ष्‍मी पूजन विधि : जानें, लक्ष्मी पूजन का समय, व्यापार में वृद्धि के लिए करें यह प्रयोग

होगा साल भर लक्ष्मी का आगमन, करें ये उपाय

जानें धनतेरस पूजा का विधि-विधान : होगा साल भर लक्ष्मी का आगमन, करें ये उपाय

मॉं दक्षिण महाकाली का यह मंत्र करेगा तनाव व चिंता से मुक्त, स्‍मरण शक्‍ति में भी मददगार

नवरात्रि विशेष : मॉं दक्षिण महाकाली का यह मंत्र करेगा तनाव व चिंता से मुक्त, स्‍मरण शक्‍ति में भी मददगार

या देवी सर्वभूतेषु .....जानें कौन कैसे करे देवी माता की साधना

नवरात्रि पूजा : या देवी सर्वभूतेषु .....जानें कौन कैसे करे देवी माता की साधना

क्या कहता है आपका दैनिक राशिफल दिनांक 13.08.2021 शुक्रवार

: क्या कहता है आपका दैनिक राशिफल दिनांक 13.08.2021 शुक्रवार

VIDEO POST

View All Videos
X