Thursday, June 20, 2024
BREAKING
डॉ राजेश शर्मा को सीएम आवास में बंधक बनाकर बात मनवाना शर्मनाक:जयराम ठाकुर श्रीलंका में जाइका प्रोजेक्ट का मॉडल बनेगा हिमाचल, धर्मशाला-पालमपुर पहुंचे 11 प्रतिनिधि बिकने के बाद भाजपा के गुलाम हुए 3 पूर्व निर्दलीय विधायक: मुख्यमंत्री सरकार की तनाशाही के कारण निर्दलीय विधायकों को देना पड़ा इस्तीफ़ा: जयराम ठाकुर कांग्रेस ने देहरा विस उपचुनाव में सीएम की पत्‍नी कमलेश ठाकुर को मैदान में उतारा सरकारी विभागों में 6630 पद भरेे जाएंगे, कांस्‍टेबल भर्ती की आयु सीमा में 1 साल की छूट कण्डाघाट में दिव्यांगजनों के लिए स्थापित होगा सेंटर ऑफ एक्सीलेंस: मुख्यमंत्री कहां गई सुक्खू सरकार की स्टार्टअप योजना: जयराम ठाकुर मुख्यमंत्री ने एनआरआई दम्पति पर हमले की कड़ी निंदा की, कार्रवाई के निर्देश गलत साइड से ओवरटेक करते ट्रक से टकराई बाइक, युवक की मौत
 

साहित्य उत्सव शुरू, देश के वरिष्ठ साहित्यकारों से सीधा संवाद

एफ.आई.आर. लाइव डेस्क Updated on Friday, March 25, 2022 21:49 PM IST
साहित्य उत्सव शुरू, देश के वरिष्ठ साहित्यकारों से सीधा संवाद

धर्मशाला(कांगड़ा), 25 मार्च। जिला प्रशासन की ओर से धर्मशाला के महाविद्यालय के सभागार में दो दिवसीय साहित्य समारोह का विधिवत रूप शुभारंभ हुआ। इसमें देश भर के नामी गिरामी साहित्यकारों ने नवोदित लेखकों के साथ सीधा संवाद स्थापित किया। साहित्य समारोह का समापन 26 मार्च को किया जाएगा। उपायुक्त डॉ. निपुण जिंदल तथा विधायक विशाल नैहरिया ने दीप प्रज्जवलन के साथ कार्यक्रम का शुभारंभ किया जबकि निर्वासित तिब्बत सरकार के प्रवक्ता ने दलाईलामा का संदेश भी उद्घाटन सत्र में प्रस्तुत किया।

 

इसमें दलाई लामा ने धर्मशाला में पहली बार साहित्य उत्सव के आयोजन पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि धर्मशाला पिछले 60 वर्षों से उनका घर रहा है। भारत ने साहित्य के सबसे पुराने टुकड़ों में से एक का निर्माण किया है। उन्होंने कहा कि भारत एकमात्र ऐसा देश है जो प्राचीन ज्ञान को आधुनिक शिक्षा के साथ जोड़ सकता है। इस अवसर पर उपायुक्त डॉ. निपुण जिंदल ने कहा कि साहित्य उत्सव युवा पीढ़ी के लिए काफी कारगर साबित होगा। यही कारण है कि इस साहित्य उत्सव में विद्यार्थियों की भागीदारी भी सुनिश्चित की जा रही है। विधायक विशाल नैहरिया ने भी साहित्य उत्सव के धर्मशाला में आयोजन के लिए जिला प्रशासन के प्रयासों की सराहना की।

उद्घाटन सत्र में विवेक अत्रे ने जुपिंदरजीत सिंह के साथ बातचीत में अपनी पुस्तक लिविंग अ वंडरफुल लाइफ के बारे में जानकारी दी। अत्रे ने कहा कि उन्होंने अपनी पुस्तक में लोगों को उनके दिल के करीब काम करने के लिए मार्गदर्शन करने की कोशिश की है। उन्होंने कहा कि हर व्यक्ति में रचनात्मक तत्व होता है, उसे बाहर लाने के लिए उन्हें काम करना चाहिए।


लिली स्वर्ण, धर्मशाला कॉलेज के सेवानिवृत्त प्राचार्य ललित मोहन शर्मा और निशा लूथरा ने थॉट्स दैट ब्रीद विषय पर दर्शकों को आकर्षित किया। सीयूएचपी के प्रोफेसर रोशन शर्मा के संरक्षण में नीलेश कुलकर्णी ने दर्शकों को अपनी पुस्तक श्इन द फुट स्टेप्स ऑफ रामाश् पर बातचीत में शामिल किया।  नीलेश कुलकर्णी ने रामायण के पात्रों के बारे में विभिन्न पहलुओं और व्याख्याओं के बारे में बताया, इसलिए पुस्तक के संरक्षण ने दर्शकों की बहुत रुचि पैदा की।

तेनजिन त्सुंडु और न्येन त्सेरिंग ताशी तेनजिन चोयिंग के साथ तिब्बती साहित्य के विकास पर एक रूपांतरण में लगे हुए हैं। सत्र ने निर्वासन में विकसित होने वाले तिब्बती साहित्य को छुआ और इसने तिब्बती कारणों की दुर्दशा को कैसे उजागर किया। अपर्णा अनंत के साथ संरक्षण में योगेश कोचर ने अपनी पुस्तक हैप्पीप्रेन्योर पर चर्चा की। योगेश कोचर एक पूर्व प्रबंधन सलाहकार और टेक्नोक्रेट ने बताया कि कैसे कॉरपोरेट जगत धर्मशाला में चला गया

अंतरराष्‍ट्रीय साहित्य महोत्सव का आयोजन शिमला में 16 से 18 जून तक

प्रवेश होगा निशुल्‍क : अंतरराष्‍ट्रीय साहित्य महोत्सव का आयोजन शिमला में 16 से 18 जून तक

मुख्यमंत्री ने कविता संग्रह हाशिये वाली जगह का विमोचन किया

हिमतरू प्रकाशन : मुख्यमंत्री ने कविता संग्रह हाशिये वाली जगह का विमोचन किया

सब खुश थे सुनकर जंग की बातें, मगर इधर पहरों मुंह में निवाला नहीं गया...

कवियों ने किया साहित्य उत्सव सराबोर : सब खुश थे सुनकर जंग की बातें, मगर इधर पहरों मुंह में निवाला नहीं गया...

कितने मशहूर हो गये हो क्या, खुद से भी दूर हो गये हो...

कवि साम्‍मेलन आयोजित : कितने मशहूर हो गये हो क्या, खुद से भी दूर हो गये हो...

मल्लिका नड्डा ने पद्मश्री के लिए ललिता और विद्यानंद को बधाई दी

सम्‍मान : मल्लिका नड्डा ने पद्मश्री के लिए ललिता और विद्यानंद को बधाई दी

सोची-समझी साजिश के तहत विकृत किया गया भारतीय इतिहास: धूमल

राष्ट्रीय परिसंवाद एवं वेबीनार : सोची-समझी साजिश के तहत विकृत किया गया भारतीय इतिहास: धूमल

युवा पीढ़ी को उपलब्‍ध करवाई जाए ऐतिहासिक घटनाओं की सही डॉक्यूमेंटेशन:राज्यपाल

नेरी शोध संस्‍थान में परिसंवाद : युवा पीढ़ी को उपलब्‍ध करवाई जाए ऐतिहासिक घटनाओं की सही डॉक्यूमेंटेशन:राज्यपाल

मंडी में राज्य स्तरीय यशपाल जयंती समारोह का शुभारंभ

साहित्‍यकार एवं शोधार्थी जुटे : मंडी में राज्य स्तरीय यशपाल जयंती समारोह का शुभारंभ

VIDEO POST

View All Videos
X