Wednesday, July 24, 2024
BREAKING
सरकारी स्‍कूलों में छात्रों की भारी गिरावट पर सीएम चिंतित, स्कूल होंगे मर्ज मुख्यमंत्री ने केंद्रीय बजट को निराशाजनक और किसान विरोधी बताया सभी वर्गों के सशक्तिकरण का साधन है केंद्रीय बजट: जयराम ठाकुर नादौन में 100 पदों के लिए इंटरव्‍यू 24 को, वेतन 16157 रुपये परिवहन निगम में 357 कंडक्टरों को जल्द मिलेगी नियुक्ति: मुकेश अग्निहोत्री सीएम ने अम्रुत योजना में पहाड़ी राज्यों के लिए मापदंडों में ढील देने का आग्रह किया कांगड़ा में एटीएम चोरी के प्रयास में कोहाला के तीन युवक दबोचे हिमकेयर योजना के तहत की गई 100 करोड़ रुपये की प्रतिपूर्ति: संजय अवस्‍थी जयराम झूठे, 2023-2024 में शगुन योजना के तहत 4,662 बेटियों को दिए 14.45 करोड़: शांडिल ऊना और हमीरपुर में नौकरी का मौका, कंपनियां भरेंगी विभिन्‍न ट्रेडों के कई पद
 

मल्लिका नड्डा ने पद्मश्री के लिए ललिता और विद्यानंद को बधाई दी

एफ.आई.आर. लाइव डेस्क Updated on Friday, January 28, 2022 20:32 PM IST
मल्लिका नड्डा ने पद्मश्री के लिए ललिता और विद्यानंद को बधाई दी

शिमला, 28 जनवरी। हिमाचल प्रदेश की दो प्रतिष्ठित विभूतियों लोकप्रिय पहाड़ी साहित्यकार विद्यानंद सरैक और चम्बा रूमाल कला के उन्नयन में साधनारत ललिता वकील को पदमश्री सम्मान के लिए चयनित होने पर विशेष ओलम्पिक की अध्यक्षा डॉ. मल्लिका नड्डा ने उन्हें बधाई दी है। उन्होने कहा कि सिरमौर जिला के राजगढ़ क्षेत्र के देवठी मझगांव निवासी प्रसिद्व साहित्यकार, कलाकार और लोकगायक 200 से अधिक सम्मान प्राप्त करने वाले विद्यानंद सरैक को वर्ष 2018 में राष्ट्रपति अवार्ड से भी सम्मानित किया गया है।  

 

ललिता वकील के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा कि चम्बा रूमाल के संरक्षण और संवर्धन के लिए उन्होंने अथक परिश्रम किया है, जिससे आज चम्बा रूमाल की देश और दुनिया में विशेष पहचान है। ललिता वकील महिलाओं और लड़कियों को चम्बा रूमाल की बारीकियां सिखाती हैं। उनकी प्रेरणा से आज कई महिलाएं और लड़कियां चम्बा रूमाल कला के माध्यम से अपनी अजीविका चला रही हैं। यह साधन संपन्न लोगों की वित्तीय सहायता से गरीब बच्चों को पढ़ाने में भी मदद करती हैं।

 

उन्होनें कहा कि चम्बा रूमाल को नई बुलदियों पर पहुंचाने वाली ललिता वकील को 2018 में नारी शक्ति पुरस्कार से नवाजा जा चुका है। इसके पहले वर्ष 1993 में तत्कालीन राष्ट्रपति शंकर दयाल शर्मा और 2012 में राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी द्वारा इन्हें शिल्प गुरू सम्मान से नवाजा गया है।

 

डॉ. मल्लिका के प्रयासों से माह दिसम्बर, 2021 में हिमाचली कलाकारों को बढ़ावा देने और उन्हें प्रोत्साहित करने के लिए राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में ललित गु्रप ऑफ हॉस्पिटैलटी के सौजन्य से होटल ललित में एक प्रदर्शनी का भी आयोजन किया गया था। एक सप्ताह तक चली इस प्रदर्शनी में ललिता वकील को उल्लेखनीय उपलब्धियां हासिल करने तथा चम्बा रूमाल, हिमाचली कला और शिल्प को प्रोत्साहित करने के लिए विशेष रूप से सम्मानित किया गया था।

 

स्वर्णिम हिमाचल के उपलक्ष्य में आयोजित इस कार्यक्रम से कला एवं संस्कृति विभाग के संयुक्त तत्वावधान में हिमाचली व्यंजनों, कलाओं, चम्बा रूमाल, रंगमंच कलाकार इत्यादि को प्रोत्साहन देने का यह कार्यक्रम पहली बार राजधानी दिल्ली में मनाया गया है।  

अंतरराष्‍ट्रीय साहित्य महोत्सव का आयोजन शिमला में 16 से 18 जून तक

प्रवेश होगा निशुल्‍क : अंतरराष्‍ट्रीय साहित्य महोत्सव का आयोजन शिमला में 16 से 18 जून तक

मुख्यमंत्री ने कविता संग्रह हाशिये वाली जगह का विमोचन किया

हिमतरू प्रकाशन : मुख्यमंत्री ने कविता संग्रह हाशिये वाली जगह का विमोचन किया

सब खुश थे सुनकर जंग की बातें, मगर इधर पहरों मुंह में निवाला नहीं गया...

कवियों ने किया साहित्य उत्सव सराबोर : सब खुश थे सुनकर जंग की बातें, मगर इधर पहरों मुंह में निवाला नहीं गया...

साहित्य उत्सव शुरू, देश के वरिष्ठ साहित्यकारों से सीधा संवाद

दलाईलामा ने भेजा संदेश : साहित्य उत्सव शुरू, देश के वरिष्ठ साहित्यकारों से सीधा संवाद

कितने मशहूर हो गये हो क्या, खुद से भी दूर हो गये हो...

कवि साम्‍मेलन आयोजित : कितने मशहूर हो गये हो क्या, खुद से भी दूर हो गये हो...

सोची-समझी साजिश के तहत विकृत किया गया भारतीय इतिहास: धूमल

राष्ट्रीय परिसंवाद एवं वेबीनार : सोची-समझी साजिश के तहत विकृत किया गया भारतीय इतिहास: धूमल

युवा पीढ़ी को उपलब्‍ध करवाई जाए ऐतिहासिक घटनाओं की सही डॉक्यूमेंटेशन:राज्यपाल

नेरी शोध संस्‍थान में परिसंवाद : युवा पीढ़ी को उपलब्‍ध करवाई जाए ऐतिहासिक घटनाओं की सही डॉक्यूमेंटेशन:राज्यपाल

मंडी में राज्य स्तरीय यशपाल जयंती समारोह का शुभारंभ

साहित्‍यकार एवं शोधार्थी जुटे : मंडी में राज्य स्तरीय यशपाल जयंती समारोह का शुभारंभ

VIDEO POST

View All Videos
X