Friday, September 29, 2023
BREAKING
एसबीआई कर्मचारियों ने आपदा राहत कोष में दिए 77.30 लाख मुख्यमंत्री ने यू.ए.ई. के प्रवासी हिमाचलियों को निवेश के लिए आमंत्रित किया कला अध्यापकों और शारीरिक शिक्षकों की भर्ती के लिए न्यूनतम छात्र संख्या शर्त हटाने पर होगा विचार:सीएम मंडी पहुंचा जीएसआई दल, टारना में भूभौतिकीय कारकों का करेगा अध्ययन अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा अमृतसर से जुड़ेंगे कुल्लू व शिमला असम सरकार ने आपदा राहत कोष में किया 10 करोड़ रुपये का अंशदान सीएम ने केंद्र से विशेष राहत पैकेज और आपदा राहत कोष मानदंडों में संशोधन की मांग की किराये के मकान में अकेली रह रही महिला की गला रेत कर हत्‍या तेज रफ्तार बस की टक्‍कर में 12 साल का बालक गंभीर रूप से घायल, आईजीएमसी रेफर सीएम ने स्वर्ण मंदिर और दुर्गियाना मंदिर में माथा टेका, जलियांवाला बाग व विभाजन संग्रहालय भी गए
 

भारत-चीन सीमा से सटे सभी गांवों तक जल्द फ्री-डिश, आकाशवाणी भी होगी मजबूत: अनुराग ठाकुर

एफ.आई.आर. लाइव डेस्क Updated on Thursday, July 13, 2023 20:56 PM IST
भारत-चीन सीमा से सटे सभी गांवों तक जल्द फ्री-डिश, आकाशवाणी भी होगी मजबूत: अनुराग ठाकुर

लेह, 13 जुलाई। केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण और युवा एवं खेल मामलों के मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर वाइब्रेंट विलेज प्रोग्राम के अन्तर्गत तीन दिवसीय लेह- लद्दाख यात्रा पर हैं। इस दौरान उन्होंने लेह से 211 किलोमीटर दूर, भारत- चीन सीमा से लगे गांव 'करजोक' में रात बिताई।

इसके अतिरिक्त युवा एवं खेल मामलों के मंत्री ने 14000 फीट की ऊंचाई पर पुगा आवासीय विद्यालय के अपने दौरे के दौरान युवाओं संग वॉलीबॉल भी खेला और युवाओं के आमंत्रण रात्रि में मोबाइल फ़ोन की रौशनी में टेबल टेनिस में भी हाथ आजमाया। श्री ठाकुर ने कहा कि लेह लद्दाख के युवा प्रतिभा से भरे हैं। 2014 से पहले इनकी प्रतिभा को देखने वाला कोई नहीं था। आज मोदी जी के नेतृत्व में इनकी प्रतिभा को तराशा जा रहा है।" श्री ठाकुर ने कारजोक व पुगा में खेल उपकरण भी वितरित किये।

भारत चीन सीमा से सटे गावों के विकास के प्रति मोदी सरकार की प्रतिबद्धता जाहिर करते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि सरकार भारत-चीन सीमा पर स्थित इलाकों में प्रसारण तथा नेटवर्क कनेक्टिविटी बढाने के लिये कृत संकल्पित हो कर कार्य कर रही है। उन्होंने कहा, हम जल्द भारत-चीन सीमा पर सुदूरवर्ती क्षेत्रों में रहने वालों को दूरदर्शन फ्री डिश का कनेक्शन उपलब्ध कराएँगे. इसके अलावा बेहतर मोबाइल कनेक्टिविटी उपलब्ध कराने हेतु भी तेज़ी से कार्य किये जा रहे हैं।"

उल्लेखनीय है कि डीडी “फ्री-डिश” प्लेटफार्म के जरिए सीमावर्ती और सुदूर क्षेत्रों में रहने वाले लोगों तक पहुंच बनाने का लक्ष्य हासिल करने के लिये सरकार ने सीमावर्ती इलाकों के गांवों में 1.5 लाख मुफ्त “फ्री-डिश” वितरित करने का प्रस्ताव किया था।
 
ठाकुर ने कहा, "हम लेह लद्दाख को विकास के मामले में बाकी भारत के समकक्ष लाने हेतु लगातार काम कर रहे हैं. फिजिकल कनेक्टिविटी जैसे सड़क, पुल, टनल इत्यादि के साथ साथ हम यहाँ डिजिटल कनेक्टिविटी भी सुनिश्चित कर रहे हैं. पर्यटन हो या खेल, मोदी सरकार लेह लद्दाख की सभी बुनियादी जरूरतों को जल्द से जल्द पूरा करेगी."

“मोदी सरकार द्वारा चलाये जा रहे वाइब्रेंट विलेज प्रोग्राम के तहत वे लेह-लद्दाख के तीन दिवसीय दौरे पर आये हैं। इस दौरान केंद्रीय मंत्री ने वरिष्ठ अधिकारियों संग विभिन्न योजनाओं की समीक्षा बैठक की।

इसके पश्चात केंद्रीय मंत्री अधिकारियों के एक दल और स्थानीय प्रतिनिधियों के साथ खारनाक और समद गांव के लोगों से मिले और उनके साथ समय बिताकर उनकी आशाओं-आकांक्षाओं व समस्याओं को सुना। अनुराग ठाकुर ने इस दौरान खारनाक में 'दाध खारनाक राजमार्ग' से जुड़ने वाली पीएमजीएसवाई सड़क का उद्घाटन भी किया।
 
उन्‍होंने 32 परिवारों के लिये आवास, सौर ऊर्जा, पेयजल, साइक्लिंग ट्रैक, कृत्रिम झील और पर्यटन सब्सिडी सम्बंधी अनेक विषयों पर चर्चा की। इसके साथ हीं उन्होंने सीमा सुरक्षा, सड़क, मोबाइल टावरों के विकास, वन्यजीव के मुद्दों, जीवन्त ग्रामीण कार्यक्रम में समावेश, एक ही इलाके में घुमंतू समुदाय को बसाने जैसे अन्य कई मुद्दों पर भी सार्थक वार्तालाप किया।

स्थानीय लोगों संग बातचीत में श्री ठाकुर कहा कि केंद्र शासित प्रदेश बनने के बाद लद्दाख में अनेक विकास कार्य हुये हैं. आज यहाँ लोगों को सीधे खाते के सरकारी सहायता मिल रही है, 24 घंटे बिजली है, 21,000 करोड़ रुपये की लागत से अति-वृहद सौर संयंत्र लग रहा है, आजीविका के बेहतर अवसर मिल रहे हैं, लेह में 375 मोबाइल टावर लगाने की मंजूरी दी गयी है।"

श्री ठाकुर ने कहा कि आज सुदूर से सुदूर छांगथांग इलाके में भी हर घर को जल जीवन मिशन (जेजेएम) के अंतर्गत पानी की आपूर्ति की जा रही है। इस दौरान श्री ठाकुर ने छांगथांग और आसपास के गांवों में विकास में बढ़ोतरी करने वाली अनेक योजनाओं का अनावरण किया। इन पहलों में बेहतर कनेक्टिविटी के लिये बुनियादी ढांचे को उन्नत बनाना तथा क्षेत्र के प्राकृतिक सौंदर्य की बुनियाद पर इको-पर्यटन को प्रोत्साहन देना शामिल है। श्री ठाकुर ने गांव वालों को भरोसा दिलाया कि सरकार इन योजनाओं के कारगर क्रियान्वयन के लिये हर जरूरी समर्थन व संसाधन उपलब्ध करायेगी। उन्होंने कहा कि सरकार के प्रयास से छांगथांग में भी पर्यटन का विकास होगा।

VIDEO POST

View All Videos
X