Wednesday, July 24, 2024
BREAKING
सरकारी स्‍कूलों में छात्रों की भारी गिरावट पर सीएम चिंतित, स्कूल होंगे मर्ज मुख्यमंत्री ने केंद्रीय बजट को निराशाजनक और किसान विरोधी बताया सभी वर्गों के सशक्तिकरण का साधन है केंद्रीय बजट: जयराम ठाकुर नादौन में 100 पदों के लिए इंटरव्‍यू 24 को, वेतन 16157 रुपये परिवहन निगम में 357 कंडक्टरों को जल्द मिलेगी नियुक्ति: मुकेश अग्निहोत्री सीएम ने अम्रुत योजना में पहाड़ी राज्यों के लिए मापदंडों में ढील देने का आग्रह किया कांगड़ा में एटीएम चोरी के प्रयास में कोहाला के तीन युवक दबोचे हिमकेयर योजना के तहत की गई 100 करोड़ रुपये की प्रतिपूर्ति: संजय अवस्‍थी जयराम झूठे, 2023-2024 में शगुन योजना के तहत 4,662 बेटियों को दिए 14.45 करोड़: शांडिल ऊना और हमीरपुर में नौकरी का मौका, कंपनियां भरेंगी विभिन्‍न ट्रेडों के कई पद
 

स्‍कूल संचालक ने स्‍कूल लैक्‍चरर भाई और भाभी को गोलियां से भूना, मौके पर मौत

एफ.आई.आर. लाइव डेस्क Updated on Thursday, November 02, 2023 18:32 PM IST
स्‍कूल संचालक ने स्‍कूल लैक्‍चरर भाई और भाभी को गोलियां से भूना, मौके पर मौत

नगरोटा बगवां(कांगड़ा), 02 अक्‍तूबर। हिमाचल प्रदेश के जिला कांगड़ा के उपमंडल नगरोटा बगवां में एक व्‍यक्‍ति ने जमीनी विवाद के चलते अपने भाई और भाभी को गोलियों से भून कर मार डाला। इस डबल मर्डर के बाद पूरे क्षेत्र में सनसनी फैल गई। सूचना मिलते ही पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंच गए और जरूरी साक्ष्‍य जुटाने के साथ ही छानबीन शुरू कर दी है। उधर, हत्‍या का आरोपी इस घटना को अंजाम देने के बाद से फरार बताया जा रहा है। आरोपी अपना प्राइवेट स्कूल चलाता है।

 

मिली जानकारी के अनुसार नगरोटा बंगवा के पास लगते गांव जसौर में वार्ड नंबर एक के निवासी दीपक कुमार पुत्र मुंशी राम ने वीरवार दोपहर को सरकारी नौकरी में कार्यरत अपने बड़े भाई और भाभी को अपनी लाइसेंसी बंदूक से गोलीबारी करके मौत के घाट उतार दिया। मृतक दंपति की 14 साल और नौ साल की दो बेटियां हैं। इस घटना के बाद दोनों ही सहमी हुई हैं। पुलिस ने सूचना मिलते ही मौके पर पहुंच कर शवों को कब्‍जे में लिया और पोस्टमार्टम के लिए टांडा मेडिकल कालेज भेज दिया है। इससे पहले धर्मशाला से फोरेंसिक टीम को बुला कर जरूर साक्ष्‍य हुटाए गए हैं।

 

 

बताया जा रहा है कि गोलीबारी का शिकार हुए विपिन कुमार जमानाबाद स्कूल में बतौर लेक्चरर पद पर कार्यरत थे और उनकी पत्‍नी रमा देवी गृहिणी थी। उनका अपने छोटे भाई दीपक के साथ जमीनी वाद विवाद चल रहा था। इसी के चलते दीपक ने तैश में आकर दोनों पर अपनी राइफल से गोलियां दाग दीं। गोलियां लगने से दोनों की मौके पर ही मौत हो गई। यह भी जानकारी मिली है कि घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी मौके से फरार हो गया था। पुलिस उसकी तलाश में जुटी है। समाचार लिखे जाने तक पुलिस छानबीन में जुटी हुई थी।

 

पहले फिरौती के लिए ऊना में गोलीकांड अब डबल मर्डर से प्रदेश की कानून व्‍यवस्‍था कटघरे में: जयराम ठाकुर

 

शिमला: नेता प्रतिपक्ष जयराम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश में क़ानून व्यवस्था का जनाज़ा उठ गया है। फिरौती के लिए दिनदहाड़े, खुलेआम लोगों को गोली मारी जा रही है। आज तक हमने हिमाचल प्रदेश में इस तरह के माफ़ियाराज की घटना नहीं सुनी। जयराम ठाकुर ने कहा कि सरकार को इस तरह के माफिया का फ़न कुचलना होगा, उसके लिए चाहे जो कार्रवाई करनी पड़े। उन्होंने कहा कि ऊना के हरोली में फिरौती न देने पर कारोबारी को गोली मारने की घटना से आज पूरे ऊना में दहशत का माहौल है। ऊना के कई लोगों से मेरी बात हुई, सबने यही कहा कि इस बात की कल्पना भी नहीं की जा सकती कि हिमाचल में फिरौती और गुंडा टैक्स जैसी चीजों की मांग करके गोलीबारी करेगा। उन्होंने कहा कि आज नगरोटा में ज़मीनी विवाद में एक प्राइवेट स्कूल संचालक ने अपने सगे भाई और भाभी की दिन दहाड़े गोली मार कर कर हत्या कर दी।  

 

नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि प्रदेश में यदि किसी को भी इस तरह के अपराध की उम्मीद नहीं थी तो सरकार का भी यह दायित्व बनता है कि ऐसे अपराध प्रदेश में होने भी न पाए। माफिया का फन कुचलने के लिए सरकार जो भी कदम उठाएगी विपक्ष पूरी ज़िम्मेदारी से सरकार के साथ खड़ा है लेकिन इस तरह की घटना पर अंकुश लगना चाहिए। 

 

नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि प्रदेश क़ानून से चलेगा माफिया से नहीं। कारोबारी सरकार को टैक्स देते हैं, वह गुंडा टैक्स नहीं देंगे। इसलिए सरकार की ज़िम्मेदारी है कि हर नागरिक की सुरक्षा करे और माफिया को उनकी सही जगह दिखाए। उन्होंने कहा कि प्रदेश में गुंडा टैक्स नहीं चलेगा। हिमाचल प्रदेश अपनी शान्तिप्रियता और क़ानून व्यवस्था के लिए जाना जाता है और यही हमारे प्रदेश की पहचान रहनी चाहिए। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि यह प्रदेश की पहली घटना है सरकार यह सुनिश्चित करे कि यही आख़िरी घटना भी हो। इस तरह की घटनाएं प्रदेश में किसी तरह स्वीकार नहीं की जाएगी। 

 

नेता प्रतिपक्ष जयराम ठाकुर ने कहा कि समाचारों के माध्यम से पता चला है कि अन्य राज्य की जेल में बैठे माफिया द्वारा इस तरह की कार्रवाई करवाई गई है। माफिया द्वारा कारोबारी से पैसे की मांग की गई थी, पैसा न देने पर अंजाम भुगतने की धमकी दी गई थी। ऐसे में पुलिस द्वारा शिकायतकर्ता को सुरक्षा क्यों नहीं दी गई। पुलिस द्वारा माफिया पर कार्रवाई क्यों नहीं की गई। जयराम ठाकुर ने कहा कि ऐसे बहुत से सवाल हैं जिनके जवाब सरकार पुलिस विभाग को तलाशने होंगे। उन्होंने कहा कि सबसे पहले सभी आरोपियों की गिरफ़्तारी की जाए और इस मामले में शामिल हर अपराधी को ऐसी सजा दी जाए कि प्रदेश में फिर से इस तरह की हरकत करने की हिम्मत कोई और न कर सके। 

 

कांगड़ा के शिक्षक और उनकी पत्नी की हत्या पुलिस-प्रशासन की नाकामी

 

नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि आज कांगड़ा के नगरोटा बगवां से लगते जसौर में में ज़मीनी विवाद में एक प्राइवेट स्कूल संचालक ने अपने सगे भाई और भाभी की दिन दहाड़े गोली मार कर कर हत्या कर दी। इस तरह से प्रदेश में दिन दहाड़े गोलीय चल रही हैं। पिछले माह 06 अक्टूबर को ऊना के ही बहडाला में सहकारी सभा के सचिव की दिन दहाड़े गोली मारकर हत्या कर दी गई। इस तरह की निजी रंजिश में हत्या पुलिस की नाकामी और उसके ख़ुफ़ियासूचना तंत्र की विफलता है। एक दिन में इस तरह की घटनाएं नहीं हो सकती है। इस तरह के मामले पुलिस के गोपनीय सूचना तंत्र की सहायता से रोके जा सकते हैं। 

 

VIDEO POST

View All Videos
X