Tuesday, November 30, 2021
BREAKING
पहली दिसंबर से बारिश और बर्फबारी के आसार हिमाचल को देश का सबसे पसंदीदा पर्यटन गंतव्य बनाने को कृतसंकल्पःसीएम पुलिस कर्मियों के अनुबंध का मामला सीएम के समक्ष से उठाया: सत्ती निम्‍न शिवालिक पर्वत श्रृंखला की जैव-विविधता के दस्तावेजीकरण की जरूरत मुख्यमंत्री ने धर्मपुर में 381 करोड़ के लोकार्पण एवं शिलान्यास किए रेलवे ट्रैक पर जा रहा कॉलेज छात्र ट्रेन की चपेट में आया, मौत बिलासपुर का एमवीआई, मंडी के 2 एजेंटों समेत रिश्‍वत लेने के आरोप में धरा बरमाणा में चिट्टे समेत दबोचे कार सवार दो युवक हिमाचल में फिल्म उद्योग को आकर्षित करने के लिए प्रयासरतः मुख्यमंत्री राज्यपाल ने मां चिंतपूर्णी मंदिर में टेका माथा, आरोग्य भारती के अधिवेशन में शिरकत

ग्‍लासगो में हुआ जलवायु समझौता, जीवाश्म ईंधन पर भारत का हस्तक्षेप

एफ.आई.आर. लाइव डेस्क Updated on Sunday, November 14, 2021 18:06 PM IST
ग्‍लासगो में हुआ जलवायु समझौता, जीवाश्म ईंधन पर भारत का हस्तक्षेप

लंदन, 14 नवंबर। जीवाश्म ईंधनों का उपयोग चरणबद्ध तरीके से बंद करने के बजाय, इसके उपयोग को चरणबद्ध तरीके से कम करने के भारत के सुझाव को महत्व देते हुए ग्लासगो में सीओपी26 शिखर सम्मेलन में लगभग 200 देश शनिवार को एक जलवायु समझौते के लिए तैयार हो गए। इसके साथ ही ग्लासगो जलवायु समझौता हानिकारक जलवायु प्रभाव वाली ग्रीनहाउस गैसों के लिए जिम्मेदार कोयले के उपयोग को कम करने की योजना बनाने वाला पहला संयुक्त राष्ट्र जलवायु समझौता बन गया है। समझौते में शामिल देश अगले साल कार्बन कटौती पर चर्चा करने के लिए भी सहमत हुए हैं ताकि ग्लोबल वार्मिंग को 1.5 डिग्री सेल्सियस तक सीमित करने के लक्ष्य तक पहुंचा जा सके।

 

सीओपी26 के अध्यक्ष आलोक शर्मा ने समझौते की घोषणा करते हुए कहा कि ‘अब हम इस धरती और इसके वासियों के लिए एक उपलब्धि के साथ इस सम्मेलन से विदा ले सकते हैं।’ हालांकि, कई देशों ने जीवाश्म ईंधन पर भारत के रुख की आलोचना की। केंद्रीय पर्यावरण मंत्री भूपेंद्र यादव ने ग्लासगो जलवायु शिखर सम्मेलन में पूछा कि कोई विकासशील देशों से कोयले और जीवाश्म ईंधन सब्सिडी को ‘चरणबद्ध तरीके से बंद करने’ के वादे की उम्मीद कैसे कर सकता है, जबकि उन्हें अब भी उनके विकास एजेंडा और गरीबी उन्मूलन से निपटना है।

 

पर्यावरण मंत्री यादव ने कहा कि ‘अध्यक्ष महोदय (शर्मा) सर्वसम्मति बनाने के आपके निरंतर प्रयासों के लिए धन्यवाद। हालांकि, सर्वसम्मति बन नहीं पाई। भारत इस मंच पर रचनात्मक बहस और न्यायसंगत और न्यायपूर्ण समाधान के लिए हमेशा तैयार है।’ मंत्री ने कहा कि जीवाश्म ईंधन और उनके उपयोग ने दुनिया के कुछ हिस्सों को सम्पन्नता और बेहतरी प्राप्त करने में सक्षम बनाया है और किसी विशेष क्षेत्र को लक्षित करना ठीक नहीं है। यादव ने जोर देकर कहा कि हर देश अपनी राष्ट्रीय परिस्थितियों, ताकत और कमजोरियों के अनुसार ‘नेट-जीरो’ के लक्ष्य पर पहुंचेगा।

 

उन्होंने कहा कि ‘विकासशील देशों को वैश्विक कार्बन बजट में अपने उचित हिस्से का अधिकार है और वे इस दायरे में जीवाश्म ईंधन के जिम्मेदार उपयोग के हकदार हैं। ऐसी स्थिति में, कोई कैसे उम्मीद कर सकता है कि विकासशील देश कोयला और जीवाश्म ईंधन सब्सिडी को चरणबद्ध तरीके से समाप्त करने के बारे में वादा कर सकते हैं, जबकि विकासशील देशों को अब भी अपने विकास एजेंडा और गरीबी उन्मूलन से निपटना है।’

उन्होंने कहा कि ‘उदाहरण के लिए, हम (भारत) कम आय वाले परिवारों को एलपीजी के उपयोग के लिए सब्सिडी दे रहे हैं। यह सब्सिडी खाना पकाने के लिए बायोमास जलने को लगभग समाप्त करने और घरों के अंदर वायु प्रदूषण में कमी से स्वास्थ्य में सुधार करने में बहुत मददगार रही है।’

भारत में जन्मे ब्रिटिश कैबिनेट मंत्री और शिखर सम्मेलन के प्रभारी शर्मा ने मसौदे पर कुछ देशों की आलोचना के बीच कहा कि ‘मुझे गहरा खेद है।’ उन्होंने कहा कि ‘मैं गहरी निराशा को भी समझता हूं। लेकिन मुझे लगता है कि यह भी महत्वपूर्ण है कि हम इस समझौते में किए गए वादों को निभाएं।’

ग्लोबल वार्मिंग में भविष्य में थोड़ी कमी आने के आसार

वैज्ञानिक विश्लेषण : ग्लोबल वार्मिंग में भविष्य में थोड़ी कमी आने के आसार

अमेरिकी राष्ट्रपति ने प्रथम महिला संग व्‍हाइट हाउस में जलाए दीए

दिवाली की शुभकामनाएं दीं : अमेरिकी राष्ट्रपति ने प्रथम महिला संग व्‍हाइट हाउस में जलाए दीए

प्रधानमंत्री मोदी ब्रिटेन में भारत का जलवायु कार्रवाई एजेंडा पेश करेंगे

सीओपी26 : प्रधानमंत्री मोदी ब्रिटेन में भारत का जलवायु कार्रवाई एजेंडा पेश करेंगे

पीएम मोदी के ब्रिटेन दौरे से द्विपक्षीय संबंध नए युग की दहलीज पर

ब्रिटेन के पीएम से होगा संवाद : पीएम मोदी के ब्रिटेन दौरे से द्विपक्षीय संबंध नए युग की दहलीज पर

भारत, इटली में हरित हाइड्रोजन, गैस क्षेत्रों में मिलकर काम करने की सहमति

सुनहरे भविष्‍य के लिए : भारत, इटली में हरित हाइड्रोजन, गैस क्षेत्रों में मिलकर काम करने की सहमति

पीएम मोदी ने कैथोलिक चर्च प्रमुख पोप फ्रांसिस से मुलाकात की

आमने-सामने की पहली बैठक : पीएम मोदी ने कैथोलिक चर्च प्रमुख पोप फ्रांसिस से मुलाकात की

अमेरिकी सांसद बोले, हिंदू-अमेरिकी संस्कृति ने अमेरिका को समृद्ध बनाया

अमेरिकी संसद में दीपावली : अमेरिकी सांसद बोले, हिंदू-अमेरिकी संस्कृति ने अमेरिका को समृद्ध बनाया

सऊदी अरब के पूर्व अधिकारी ने क्राउन प्रिंस के खिलाफ लगाए गंभीर आरोप

साक्षात्‍कार : सऊदी अरब के पूर्व अधिकारी ने क्राउन प्रिंस के खिलाफ लगाए गंभीर आरोप

VIDEO POST

View All Videos