Tuesday, November 30, 2021
BREAKING
पहली दिसंबर से बारिश और बर्फबारी के आसार हिमाचल को देश का सबसे पसंदीदा पर्यटन गंतव्य बनाने को कृतसंकल्पःसीएम पुलिस कर्मियों के अनुबंध का मामला सीएम के समक्ष से उठाया: सत्ती निम्‍न शिवालिक पर्वत श्रृंखला की जैव-विविधता के दस्तावेजीकरण की जरूरत मुख्यमंत्री ने धर्मपुर में 381 करोड़ के लोकार्पण एवं शिलान्यास किए रेलवे ट्रैक पर जा रहा कॉलेज छात्र ट्रेन की चपेट में आया, मौत बिलासपुर का एमवीआई, मंडी के 2 एजेंटों समेत रिश्‍वत लेने के आरोप में धरा बरमाणा में चिट्टे समेत दबोचे कार सवार दो युवक हिमाचल में फिल्म उद्योग को आकर्षित करने के लिए प्रयासरतः मुख्यमंत्री राज्यपाल ने मां चिंतपूर्णी मंदिर में टेका माथा, आरोग्य भारती के अधिवेशन में शिरकत

मनरेगा के तहत 100 करोड़ का अग्रिम फंड बना रहा विभागः वीरेंद्र कंवर

एफ.आई.आर. लाइव डेस्क Updated on Monday, November 15, 2021 21:06 PM IST
मनरेगा के तहत 100 करोड़ का अग्रिम फंड बना रहा विभागः वीरेंद्र कंवर

ऊना, 15 नवंबर। ग्रामीण विकास, पंचायती राज, कृषि, मत्स्य तथा पशु पालन मंत्री वीरेंद्र कंवर ने कहा है कि मनरेगा के तहत जिलों से मिली प्रस्तावनाओं में त्रुटियां पाई गई हैं, जिन्हें जल्द से जल्द दूर करने के लिए संबंधित जिलों के अतिरिक्त उपायुक्तों एवं परियोजना अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि दो दिन के भीतर केंद्र सरकार को मनरेगा के अतंर्गत वर्ष 2020-21 का उपयोगिता प्रमाण पत्र भेज दिया जाएगा। ग्रामीण विकास विभाग के अधिकारी इस दिशा में कार्य कर रहे हैं, ताकि जल्द से जल्द बचा हुआ भुगतान किया जा सके।

वीरेंद्र कंवर ने कहा कि भुगतान में होने वाली देरी की समस्या का स्थाई समाधान निकालने के लिए वर्ष 2021-22 में विभाग 100 करोड़ रुपए का अग्रिम राशि फंड बना रहा है। उन्होंने कहा कि सभी औपचारिकताएं पूर्ण करने के बाद यह राशि फंड में जमा कर दी गई है, ताकि सामग्री की खरीद की अदायगी की जा सके।

ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री ने कहा कि हिमाचल प्रदेश ने मनरेगा में लक्ष्य से आगे बढ़कर कार्य किया है। उन्होंने कहा कि इस वित्त वर्ष में अक्तूबर माह तक 200.74 लाख कार्य दिवस अर्जित करने का लक्ष्य था, जबकि राज्य में इसी अवधि में 209.11 लाख कार्य दिवस अर्जित किए गए। वीरेंद्र कंवर ने कहा कि मनरेगा के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्र में बेहतर सुविधाएं जुटाई जा रही हैं, जिससे स्थानीय लोगों को रोजगार भी मिल रहा है। हिमाचल प्रदेश में मनरेगा के तहत करोड़ों रुपए से विकास कार्य करवाए जा रहे हैं, जो किसी भी सरकार के कार्यकाल में रिकॉर्ड हैं। वर्ष 2017-18 में 567.77 करोड़, वर्ष 2018-19 में 849.48 करोड़, वर्ष 2019-20 में 708.97 करोड़, वर्ष 2020-21 में 988.95 करोड़ तथा इस वित्त वर्ष में अब तक 673.41 करोड़ रुपए खर्च किए गए हैं।

हिमाचल को देश का सबसे पसंदीदा पर्यटन गंतव्य बनाने को कृतसंकल्पःसीएम

मनाली टूरिज्‍म कॉन्‍क्‍लेव : हिमाचल को देश का सबसे पसंदीदा पर्यटन गंतव्य बनाने को कृतसंकल्पःसीएम

हिमाचल में फिल्म उद्योग को आकर्षित करने के लिए प्रयासरतः मुख्यमंत्री

7वां शिमला अंतरराष्ट्रीय फिल्म फेस्टिवल : हिमाचल में फिल्म उद्योग को आकर्षित करने के लिए प्रयासरतः मुख्यमंत्री

छात्रों की प्रतिभा निखारेगी हिप्र. स्वर्ण जयंती मिडल मेरिट छात्रवृत्ति योजना

प्रतियोगी परीक्षा : छात्रों की प्रतिभा निखारेगी हिप्र. स्वर्ण जयंती मिडल मेरिट छात्रवृत्ति योजना

शहरी विकास मंत्री ने हिमुडा लैंड पूलिंग नीति की समीक्षा की

बैठक आयोजित : शहरी विकास मंत्री ने हिमुडा लैंड पूलिंग नीति की समीक्षा की

भारतीय संविधान ने न्याय और समानता के महान मूल्यों को साझा करने का अवसर दियाः राज्यपाल

आईआईएएस में राष्ट्रीय संगोष्ठी : भारतीय संविधान ने न्याय और समानता के महान मूल्यों को साझा करने का अवसर दियाः राज्यपाल

सीएम ने शिमला को शीर्ष स्थान प्राप्त होने पर सामूहिक प्रयासों को सराहा

शहरी विकास लक्ष्य सूचकांक 2021-22 : सीएम ने शिमला को शीर्ष स्थान प्राप्त होने पर सामूहिक प्रयासों को सराहा

मुख्यमंत्री ने टैक्सटाईल उद्योग की इकाई का किया शुभारंभ, 600 को मिलेगा रोजगार

औद्योगिकरण : मुख्यमंत्री ने टैक्सटाईल उद्योग की इकाई का किया शुभारंभ, 600 को मिलेगा रोजगार

बैडमिंटन खिलाड़ी योगेश चौहान को सीएम ने सौंपा स्‍पांसरशिप अवॉर्ड

स्‍पेन में खेलेंगे प्रतियोगिता   : बैडमिंटन खिलाड़ी योगेश चौहान को सीएम ने सौंपा स्‍पांसरशिप अवॉर्ड

VIDEO POST

View All Videos