Tuesday, November 30, 2021
BREAKING
पहली दिसंबर से बारिश और बर्फबारी के आसार हिमाचल को देश का सबसे पसंदीदा पर्यटन गंतव्य बनाने को कृतसंकल्पःसीएम पुलिस कर्मियों के अनुबंध का मामला सीएम के समक्ष से उठाया: सत्ती निम्‍न शिवालिक पर्वत श्रृंखला की जैव-विविधता के दस्तावेजीकरण की जरूरत मुख्यमंत्री ने धर्मपुर में 381 करोड़ के लोकार्पण एवं शिलान्यास किए रेलवे ट्रैक पर जा रहा कॉलेज छात्र ट्रेन की चपेट में आया, मौत बिलासपुर का एमवीआई, मंडी के 2 एजेंटों समेत रिश्‍वत लेने के आरोप में धरा बरमाणा में चिट्टे समेत दबोचे कार सवार दो युवक हिमाचल में फिल्म उद्योग को आकर्षित करने के लिए प्रयासरतः मुख्यमंत्री राज्यपाल ने मां चिंतपूर्णी मंदिर में टेका माथा, आरोग्य भारती के अधिवेशन में शिरकत

ग्लोबल वार्मिंग में भविष्य में थोड़ी कमी आने के आसार

एफ.आई.आर. लाइव डेस्क Updated on Friday, November 05, 2021 16:29 PM IST
ग्लोबल वार्मिंग में भविष्य में थोड़ी कमी आने के आसार

ग्लासगो, 05 नवंबर। संयुक्त राष्ट्र जलवायु शिखर सम्मेलन के लिए की गई प्रतिबद्धताओं से दुनिया भविष्य में ग्लोबल वार्मिंग के गंभीर दुष्परिणामों को थोड़ा-सा कम कर सकती है। बृहस्पतिवार को दो नए प्रारंभिक वैज्ञानिक विश्लेषणों में यह जानकारी दी गई। अंतरराष्ट्रीय ऊर्जा एजेंसी की रिपोर्ट और ऑस्ट्रेलियाई वैज्ञानिकों की एक रिपोर्ट में भविष्य के लिए आशा जताई गई है। उनका कहना है कि अगर सब सही होता है तो हाल के कदमों से अक्तूबर मध्य में किए गए अनुमानों से 0.3 से 0.5 डिग्री फारेनहाइट तक तापमान कम हो जाएगा।

 

विश्लेषणों में पूर्व औद्योगिक काल के बाद से 2.1 डिग्री सेल्सियस वार्मिंग के बजाय 1.8 या 1.9 डिग्री सेल्सियस वार्मिंग का अनुमान जताया गया है। हालांकि दोनों विश्लेषणों में दुनिया 1.5 डिग्री सेल्सियस की वार्मिंग से दूर है जिसका लक्ष्य 2015 के पेरिस जलवायु समझौते में तय किया गया। पृथ्वी पहले ही 1.1 डिग्री सेल्सियस तक गर्म हो गई है।

 

मेलबर्न विश्वविद्यालय के जलवायु वैज्ञानिक माल्टे मेनशॉसेन ने कहा कि ‘हमारा अब भविष्य के लिए थोड़ा और सकारात्मक रुख है।’ उन्होंने 1.9 डिग्री सेल्सियस तक वार्मिंग का अनुमान जताया है और इसके लिए भारत तथा चीन द्वारा दीर्घकालीन प्रतिबद्धताओं को जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने एक साक्षात्कार में कहा कि ‘यह अब भी 1.5 डिग्री से काफी दूर है। हम जानते हैं कि यह पारिस्थितिकी को नुकसान पहुंचने वाला है। यह दो डिग्री सेल्सियस से थोड़ा ही कम इसलिए काफी कुछ किए जाने की जरूरत है।’

 

ऊर्जा एजेंसी ने सोमवार को कार्बन डाइऑक्साइड उत्सर्जन पर अल्पकालीन कटौली और 2070 तक शून्य उत्सर्जन की भारत की प्रतिबद्धता को ध्यान में रखते हुए विश्लेषण किया है। साथ ही विश्लेषण में ग्रीनहाउस गैस मिथेन में कमी लाने के लिए मंगलवार को 100 से अधिक देशों द्वारा की गई प्रतिबद्धताओं पर विचार किया गया है।

 

अंतरसरकारी एजेंसी का कहना है कि यह पहली बार है जब अनुमान दो डिग्री सेल्सियस से कम जताया गया है। एजेंसी के प्रमुख फातिह बिरोल ने सीओपी26 में नेताओं से कहा कि ‘अगर इन सभी प्रतिबद्धताओं को लागू किया गया तो तापमान में वृद्धि को 1.8 डिग्री सेल्सियस तक सीमित किया जा सकता है।’

ग्‍लासगो में हुआ जलवायु समझौता, जीवाश्म ईंधन पर भारत का हस्तक्षेप

सीओपी26 शिखर सम्मेलन : ग्‍लासगो में हुआ जलवायु समझौता, जीवाश्म ईंधन पर भारत का हस्तक्षेप

अमेरिकी राष्ट्रपति ने प्रथम महिला संग व्‍हाइट हाउस में जलाए दीए

दिवाली की शुभकामनाएं दीं : अमेरिकी राष्ट्रपति ने प्रथम महिला संग व्‍हाइट हाउस में जलाए दीए

प्रधानमंत्री मोदी ब्रिटेन में भारत का जलवायु कार्रवाई एजेंडा पेश करेंगे

सीओपी26 : प्रधानमंत्री मोदी ब्रिटेन में भारत का जलवायु कार्रवाई एजेंडा पेश करेंगे

पीएम मोदी के ब्रिटेन दौरे से द्विपक्षीय संबंध नए युग की दहलीज पर

ब्रिटेन के पीएम से होगा संवाद : पीएम मोदी के ब्रिटेन दौरे से द्विपक्षीय संबंध नए युग की दहलीज पर

भारत, इटली में हरित हाइड्रोजन, गैस क्षेत्रों में मिलकर काम करने की सहमति

सुनहरे भविष्‍य के लिए : भारत, इटली में हरित हाइड्रोजन, गैस क्षेत्रों में मिलकर काम करने की सहमति

पीएम मोदी ने कैथोलिक चर्च प्रमुख पोप फ्रांसिस से मुलाकात की

आमने-सामने की पहली बैठक : पीएम मोदी ने कैथोलिक चर्च प्रमुख पोप फ्रांसिस से मुलाकात की

अमेरिकी सांसद बोले, हिंदू-अमेरिकी संस्कृति ने अमेरिका को समृद्ध बनाया

अमेरिकी संसद में दीपावली : अमेरिकी सांसद बोले, हिंदू-अमेरिकी संस्कृति ने अमेरिका को समृद्ध बनाया

सऊदी अरब के पूर्व अधिकारी ने क्राउन प्रिंस के खिलाफ लगाए गंभीर आरोप

साक्षात्‍कार : सऊदी अरब के पूर्व अधिकारी ने क्राउन प्रिंस के खिलाफ लगाए गंभीर आरोप

VIDEO POST

View All Videos