Thursday, December 01, 2022
BREAKING
घास काट रहा व्‍यक्‍ति पांव फिसलने से खाई में गिरा, मौत दुर्घटनाओं में दो बाइक सवार युवकों की जान गई सड़क किनारे खड़े बुजुर्ग को बैक हो रहे टिप्‍पर ने मारी टक्‍कर, मौत सड़क किनारे पड़ा मिला युवक का शव, पुलिस जांच में जुटी कारोबारी की डंडों से पीट-पीट कर हत्‍या की, दो गिरफ्तार मोटर साइकिल पर लिफ्ट देकर महिला को ले गया जंगल और किया दुष्‍कर्म चुवाड़ी में 1 दिसंबर को होगा पूर्व सैनिक व उनके परिवारों का स्वास्थ्य जांच शिविर वन खेल-कूद प्रतियोगिता: 100 मीटर दौड़ में मनीष ने मारी बाजी कार खाई में गिरते ही बनी आग का गोला, फौजी और एक बच्‍चा थे सवार तरसूह हत्‍याकांड: प्रेम प्रसंग के चलते दुश्‍मनी में बदली दोस्‍ती और फिर हुआ खून
 

मेजर मनकोटिया बोले कांग्रेस की दो रानियां दोनों जमानत पर, सुधीर सुधार नहीं उधार

एफ.आई.आर. लाइव डेस्क Updated on Monday, September 26, 2022 18:20 PM IST
मेजर मनकोटिया बोले कांग्रेस की दो रानियां दोनों जमानत पर, सुधीर सुधार नहीं उधार

धर्मशाला(कांगड़ा),26 सितंबर। हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव नजदीक आते ही पूर्व मंत्री और पूर्व कांग्रेस नेता मेजर विजय सिंह मनकोटिया ने आक्रामक तेवर दिखाने शुरू कर दिए हैं। शाहपुर विधानसभा क्षेत्र से विधायक रह चुके मेजर मनकोटिया ने यहां आयोजित पत्रकार वार्ता में आम आदमी पार्टी और कांग्रेस को घेरते हुए सवालों की झड़ी लगा दी।

 

मनकोटिया ने जहां कांग्रेस को भ्रष्‍टाचार के मुद्दे पर घेरा तो वहीं आम आदमी पार्टी पर खालीस्‍तानी मुवमेंट में चुप्‍पी साधने का आरोप लगाया। मनकोटिया ने कहा कि राजनीतिक दलों में सत्य, धर्म, ईमानदारी की भावना खत्म होती जा रही है। यही पार्टियों के पतन का कारण है। उन्होंने कहा कि जहां कांग्रेस का शीर्ष नेतृत्व सोनिया गांधी व उनका बेटा राहुल गांधी जमानत पर हैं तो वहीं हिमाचल प्रदेश में पार्टी की अध्यक्ष प्रतिभा सिंह व उनका बेटा भी जमानत पर चल रहे हैं। उन्‍होंने कहा कि प्रदेश में दो रानियां हैं एक प्रतिभा सिंह तो दूसरी आशा कुमारी, दोनों ही जमानत पर हैं। उन्‍होंने कहा कि प्रतिभा सिंह कानून की नजर में दोषी हैं। उनके खिलाफ 500 पृष्ठों की चार्जशीट दिल्ली में दायर है। केस प्रतिभा सिंह व उनके बेटे पर चल रहा है। जबकि मृत्यु के कारण पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह का नाम कट गया। अब दोनों ही जमानत पर हैं। उन्‍होंने कहा कांग्रेस की यह तस्वीर है। वहीं एआइसीसी की महासचिव चंबा की आशा कुमारी भी जमानत पर हैं।

 

मेजर विजय सिंह मनकोटिया ने कहा कि उन्‍हें कांग्रेस ज्वाइन करने का प्रस्ताव आ रहा है ऐसे हालात में क्या ऐसी पार्टी ज्वाइन करनी चाहिए यह एक बड़ा सवाल है। उन्‍होंने कि प्रदेश में दो पार्टियों भाजपा व कांग्रेस का दबदबा रहा है, इस बार तीसरी पार्टी आम आदमी पार्टी मैदान में उतरी है।

 

उन्‍होंने आम आदमी पार्टी(आप) कि नियत पर सवाल उठाते हुए कहा कि आप ने स्पष्ट नहीं किया कि क्या वो खालीस्तान के नारे और भिंडरावाले का समर्थन करते हैं या नहीं। उन्‍होंने चिंता जताते हुए कहा कि तीन दिन पहले ही पन्नू ने कनाडा में जनमत करवाया है। वहां पर सिख समुदाय के लोगों ने खालीस्तान का समर्थन किया है कि वे अलग राष्‍ट्र बनाएंगे। पन्नू कहता है कि केजरीवाल के साथ बात हो गई है। केजरीवाल को चुनाव के लिए फंड दिया है और आश्वासन लिया है कि खालीस्तान की मांग को समर्थन देंगे।

 

पूर्व आप नेता कुमार विश्वास ने भी एक बयान दिया, उसका भी जवाब केजरीवाल ने नहीं दिया। पुन्नू ने शिमला को राजधानी बनाने व पुराने पंजाब के भाग को शामिल करने की बात कही है, जो मामूली बात नहीं है। उन्‍होंने जिस पार्टी की सोच इस दिशा की तरफ बढ़ रही है, वो प्रदेश का विकल्‍प नहीं बन सकती। उन्‍होंने कहा कि ऐसे लोगों से दु:ख होता जो केजरीवाल का झंडा उठा रहे हैं। दिल्ली में केजरीवाल के मंत्री पकड़े जा रहे हैं। शराब का मामला उठा है। ऐसे में आप प्रदेश में तीसरा विकल्प नहीं हो सकती।

 

मनकोटिया ने कहा कि वो मैदान नहीं छोड़ेंगे और इस बार भी चुनाव लड़ेंगे। उन्‍होंने कहा कि वो किसी के दबाव में नहीं हैं, पूरी तरह से स्वतंत्र हैं। किसी पार्टी के अधीन नहीं हैं, जनता के नेता हैं। उन्‍होंने कहा कि वो किसी पार्टी का बनाया नेता नहीं है। पहला चुनाव भी एक निर्दलीय के रूप में लड़ा था और अब भी लड़ेंगे।

 

मनकोटिया ने कहा कि उनका पूर्व मुख्‍यमंत्री स्‍वर्गीय वीरभद्र से टकराव था, क्‍योंकि वो भेदभाव की राजनीति करते थे। उन्‍होंने कहा कि आज कांगड़ा लीडर विहीन है, तो इसका कारण स्‍वर्गीय वीरभद्र सिंह रहे हैं। उन्होंने कहा कि पूर्व सीएम ने कांगड़ा की लीडरशिप खत्म कर दी, जिसके चलते आज कांगड़ा से लीडर प्रदेश की राजनीति में बौने हैं और निचले हिमाचल में अब कोई लीडर नहीं बचा है।

 

मेजर विजय सिंह मनकोटिया ने कहा कि वो कांगड़ा के स्वाभिमान की लड़ाई लड़ते रहेंगे। यह लड़ाई वो किस मंच से लड़ेंगे, इसके लिए विकल्प खुले हैं। धर्मशाला, शाहुपर, जवाली व चंबा इन क्षेत्रों में जनचेतना बढ़ाएंगे और पूर्व के बर्तन वापस लौटाएंगे। उन्‍होंने कहा कि प्रदेश की जनता व मतदाताओं एक बात ध्‍यान दें कि वे किस को अपना समर्थन व वोट देने जा रहे हैं, इस बारे में एक बार जरूर जान लें।

 

उन्‍होंने कहा कि धर्मशाला से कांग्रेस नेता ने बड़ा फ्लैक्स बोर्ड लगा है, लिखा है धर्मशाला में सुधीर ही सुधार है। जबकि सुधार कहां वो तो बैजनाथ का उधार हैं और जब जरूरत थी तब चुनाव नहीं लड़ा व भाग गए। उन्‍होंने कहा कि अब धर्मशाला को धरती पुत्र ही मैदान में उतारना चाहिए।

तरसूह हत्‍याकांड: प्रेम प्रसंग के चलते दुश्‍मनी में बदली दोस्‍ती और फिर हुआ खून

खुलासा : तरसूह हत्‍याकांड: प्रेम प्रसंग के चलते दुश्‍मनी में बदली दोस्‍ती और फिर हुआ खून

मेधावी दिव्‍यांग छात्रा के साथ टीएमसी में अन्‍याय, एमबीबीएस में प्रवेश से किया बाहर

गुहार : मेधावी दिव्‍यांग छात्रा के साथ टीएमसी में अन्‍याय, एमबीबीएस में प्रवेश से किया बाहर

क्षेत्रीय डाक बैडमिंटन प्रतियोगिता शुरू, मैक्‍लोडगंज व बीड़ पर पिक्‍टोरिअल कलेक्‍शन लांच

आगाज : क्षेत्रीय डाक बैडमिंटन प्रतियोगिता शुरू, मैक्‍लोडगंज व बीड़ पर पिक्‍टोरिअल कलेक्‍शन लांच

युवक का खून से सना शव मिला, हत्‍या की आशंका

संदिग्‍ध मौत : युवक का खून से सना शव मिला, हत्‍या की आशंका

पत्रकारों के बेहतर स्वास्थ्य के लिए नई पहल, निशुल्क स्वास्थ्य जांच कार्यक्रम होगा शुरू

स्वास्थ्य कैंप : पत्रकारों के बेहतर स्वास्थ्य के लिए नई पहल, निशुल्क स्वास्थ्य जांच कार्यक्रम होगा शुरू

गणित का भय दूर करने के लिए शिक्षक की अनूठी पहल, आरंभ की मोबाइल लैब

रामानुजन मैथ्स : गणित का भय दूर करने के लिए शिक्षक की अनूठी पहल, आरंभ की मोबाइल लैब

कांगड़ा एयरपोर्ट विस्तार परियोजना पर परामर्श देंगे सीडब्ल्यूपीआरएस पुणे के वैज्ञानिक

कवायद : कांगड़ा एयरपोर्ट विस्तार परियोजना पर परामर्श देंगे सीडब्ल्यूपीआरएस पुणे के वैज्ञानिक

कांगड़ा जिले में पुरुषों के मुकाबले महिलाओं ने ज्यायदा डाले वोट, कुल 71.88 प्रतिशत मतदान

चुनाव : कांगड़ा जिले में पुरुषों के मुकाबले महिलाओं ने ज्यायदा डाले वोट, कुल 71.88 प्रतिशत मतदान

X