Friday, May 20, 2022
BREAKING
23 मई से प्रातः पौने आठ बजे खुलेंगे स्कूल सोलन में खाटू नरेश श्याम बाबा के मंदिर के लिए139 वर्ग मीटर भूमि दी दान धर्मशाला में पीएम के प्रस्तावित प्रवास की तैयारियां शुरू, क्रिकेट स्‍टेडियम पहुंचे डीसी/एसपी फील्‍ड एग्जीक्यूटिव ऑफिसर के 175 पदों के लिए इंटरव्यू 24 को ऊना में सीएम ने रोहड़ू के समरकोट व धमवाड़ी को दी उप-तहसील, सीएच रोहड़ू को सीटी स्कैन धर्मशाला से भागसूनाग जा रही निजी बस पलटी, कई घायल फंदे से लटकी मिली कॉलेज छात्रा, युवक की संदिग्‍ध मौत, महिला का शव लेने से किया इनकार धर्मशाला जेल में बंद विचाराधिन कैदी पठानकोट में पुलिस को चकमा देकर फरार क्षमता के समग्र विकास के लिए प्रत्येक बच्चे को मिलें समान अवसर:राज्यपाल अवगुणों को दूर करके सद्गुण अपनायें: सत्गुरु माता सुदीक्षा जी महाराज
april, 22

राष्‍ट्रीय मानवाधिकारी आयोग में रिक्त पद भरने संबंधी याचिका खारिज, अध्‍यक्ष व सदस्‍यों की नियुक्‍ति के चलते लिया फैसला

एफ.आई.आर. लाइव डेस्क Updated on Thursday, September 09, 2021 17:18 PM IST
राष्‍ट्रीय मानवाधिकारी आयोग में रिक्त पद भरने संबंधी याचिका खारिज, अध्‍यक्ष व सदस्‍यों की नियुक्‍ति के चलते लिया फैसला

नई दिल्ली, 09 सितंबर। उच्चतम न्यायालय ने राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) में रिक्त पदों को भरने के लिए निर्देश देने का अनुरोध करने वाली याचिका बृहस्पतिवार को खारिज कर दी। न्यायमूर्ति एल नागेश्वर राव और न्यायमूर्ति बीआर गवई की पीठ ने कहा कि उच्चतम न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश अरुण मिश्रा को एनएचआरसी का अध्यक्ष नियुक्त किया गया है। उन्होंने कहा कि अध्यक्ष और सदस्यों की नियुक्ति के बाद की घटनाओं को देखते हुए यह याचिका व्यर्थ हो गई है।

 

संक्षिप्त सुनवाई के दौरान याचिकाकर्ता ने पीठ को बताया कि अध्यक्ष और सदस्यों की नियुक्ति की गई है और केवल दो पद रिक्त हैं। इस पर शीर्ष न्यायालय ने पूछा कि ‘अध्यक्ष की नियुक्ति की गयी है तो हम इसे लंबित क्यों रखे। यह मामला व्यर्थ हो गया है।’उच्चतम न्यायालय वकील राधाकांत त्रिपाठी की याचिका पर सुनवाई कर रहा था जिसमें राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग में रिक्त पदों को भरने का निर्देश दिया गया है।

 

न्यायाधीश मिश्रा भारत के पहले गैर प्रधान न्यायाधीश हैं, जिन्हें 2019 में मानवाधिकार सुरक्षा अधिनियम में संशोधन के बाद से एनएचआरसी प्रमुख के पद पर नियुक्त किया गया है। भारत के पूर्व प्रधान न्यायाधीश एच एल दत्तू के पिछले साल दिसंबर में अपना कार्यकाल पूरा करने के बाद एनएचआरसी अध्यक्ष का पद खाली था। खुफिया ब्यूरो के पूर्व निदेशक राजीव जैन और जम्मू कश्मीर उच्च न्यायालय के पूर्व मुख्य न्यायाधीश एमएम कुमार को भी आयोग का सदस्य नियुक्त किया गया है।

 

कार्यकापालिका और विधायिका के चलते लंबित मामलों की भरमार: सीजेआई

जानबूझकर निष्क्रियता चिंताजनक : कार्यकापालिका और विधायिका के चलते लंबित मामलों की भरमार: सीजेआई

प्रधानमंत्री सुरक्षा चूक मामले में पूर्व न्यायाधीश की अध्यक्षता में जांच समिति गठित करेगा सुप्रीम कोर्ट

फैसला : प्रधानमंत्री सुरक्षा चूक मामले में पूर्व न्यायाधीश की अध्यक्षता में जांच समिति गठित करेगा सुप्रीम कोर्ट

टेलीविजन की परिचर्चाएं दूसरी चीजों से कहीं अधिक प्रदूषण फैला रही हैं: सुप्रीम कोर्ट

पराली जलाने का मामला : टेलीविजन की परिचर्चाएं दूसरी चीजों से कहीं अधिक प्रदूषण फैला रही हैं: सुप्रीम कोर्ट

अगले साल से लागू होंगे नीट-सुपर स्पेशियलिटी परीक्षाओं में बदलाव, केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट में कहा

वैधता पर सवाल : अगले साल से लागू होंगे नीट-सुपर स्पेशियलिटी परीक्षाओं में बदलाव, केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट में कहा

पिछड़े वर्गों की जातिगत जनगणना प्रशासनिक रूप से कठिन है: केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट में कहा

सर्वोच्च सुनवाई : पिछड़े वर्गों की जातिगत जनगणना प्रशासनिक रूप से कठिन है: केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट में कहा

पेगासस जासूसी मामले की जांच करेगी तकनीकी विशेषज्ञ समिति, अगले सप्‍ताह आएगा आदेश

सुप्रीम फैसला : पेगासस जासूसी मामले की जांच करेगी तकनीकी विशेषज्ञ समिति, अगले सप्‍ताह आएगा आदेश

महिलाओं को एनडीए में प्रवेश के लिए साल तक प्रतीक्षा नहीं की जा सकती: सुप्रीम कोर्ट

सुप्रीम ओदश : महिलाओं को एनडीए में प्रवेश के लिए साल तक प्रतीक्षा नहीं की जा सकती: सुप्रीम कोर्ट

कोलेजियम ने केंद्र को जजों के नाम भेजे, 13 उच्च न्यायालयों को मिलेंगे नए सीजे

उच्चतम न्यायालय : कोलेजियम ने केंद्र को जजों के नाम भेजे, 13 उच्च न्यायालयों को मिलेंगे नए सीजे

VIDEO POST

View All Videos
X